फुटबॉल जगत में शोक की लहर नहीं रहे पूर्व मिडफील्डर अब्दुल लतीफ

फुटबॉल जगत में शोक की लहर नहीं रहे पूर्व मिडफील्डर अब्दुल लतीफ

भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व मिडफील्डर और 1970 के बैकाक एशियाई खेलों की कांस्य पदक विजेता टीम के प्रमुख सदस्य रहे अब्दुल लतीफ का सोमवार को गुवाहाटी में निधन हो गया.

रिपोर्ट्स के अनुसार उनके परिवार में एक बेटा और दो बेटियां हैं. लतीफ के एक रिश्तेदार ने बताया, 'वह उम्र संबंधी बीमारियों से परेशान थे और उन्होंने बीते सोमवार यानी 23 मार्च 2020 की शाम को अंतिम सांस ली. और वहीं बीते मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया.'

जानकारी के लिए  हम बता दें कि  लतीफ का जन्म कर्नाटक के मैसूर में हुआ था लेकिन बाद में वह गुवाहाटी जाकर बस गए थे. उन्होंने एशिया कप क्वालीफायर 1968 और मर्डेका कप 1969 में भारत का प्रतिनिधित्व किया था लेकिन उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि उस आखिरी भारतीय टीम का हिस्सा होना था जो एशियाई खेलों में पदक जीतने में सफल रही थी. फुटबाल से संन्यास लेने के बाद वह कोच बन गये थे.

ओलंपिक रद्द होने के बाद अब  फिना विश्व तैराकी हो सकता है पोस्टपोन 

कोरोना के चलते खेल की कई गतिविधियां रद्द कर दी गई 

Hockey को लगा बड़ा झटका, कुछ दिनों के लिए टला मैच