भारत से मदद मांगने वाले पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी का निधन

पाकिस्तान हॉकी टीम केपूर्व महान दिग्गज गोलकीपर मंसूर अहमद लम्बे समय से दिल की बिमारी से जूझ रहे थे जिसके बाद शनिवार की शाम उन्होंने आखिरी सांस ली. बता दें कि मंसूर ने पाकिस्तान को विश्व कप जीतने में अहम भूमिका निभाई थी. मंसूर अहमद लंबे समय से दिल की बीमारी से जूझ रहे थे जिसके बाद आज यहां एक अस्पताल में निधन हो गया. ओलंपिक में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने वाले 49 साल के अहमद पिछले काफी समय से दिल में लगे पेसमेकर और स्टेंट से परेशान थे. 

उन्होंने हृदय प्रत्यारोपण के लिए भारत से भी मदद मांगी थी, जिसके लिए भारत ने उन्हें आश्वासन भी दिया था. पाकिस्तान के लिए 388 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले इस महान खिलाड़ी को 1994 विश्व कप में शानदार प्रदर्शन के लिये याद किया जाएगा. उन्होंने फाइनल में नीदरलैंड के खिलाफ पेनाल्टी शूट में गोल का बचाव कर के पाकिस्तान को विश्व विजेता बनाया था. इसके अलावा उन्होंने चैम्पियन्स ट्राफी के फाइनल मैच में जर्मनी के खिलाफ पेनाल्टी शूटआउट का बचाव किया था, जिसकी वजह से पाकिस्तान चैम्पियंस ट्राफी जीतने में भी कामयाब रहा था. 

पाकिस्तानी हॉकी महासंघ (पीएचएफ) अध्यक्ष ब्रिगेडिर (सेवानिवृत्त) खालिद सज्जाद खोखर और महासचिव शाहबाज अहमद ने मंसूर के निधन पर शोक व्यक्त किया. पीएचएफ ने एक बयान में कहा, 'अध्यक्ष और महासचिव ने अल्लाह से मंसूर की आत्मा की शांति और उनके परिवार को इस दुख को झेलने की हिम्मत देने के लिए प्रार्थना की है.'

 

एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत का विजयी आगाज़

तीसरी मेड्रिड ओपन जीतकर क्वितोवा ने रचा कीर्तिमान

महिला एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में भारत आज जापान से भिड़ेगा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -