इंद्राणी मुखर्जी : फोरेंसिक लैब ने ड्रग ओवरडोज़ से किया इंकार

Oct 04 2015 09:25 AM
इंद्राणी मुखर्जी : फोरेंसिक लैब ने ड्रग ओवरडोज़ से किया इंकार

मुंबई : पिछले काफी दिनों से सुर्ख़ियो में बना हुआ हाई प्रोफाइल शीना बोरा हत्याकांड में मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के कथित आत्महत्या के प्रयास को के लेकर रहस्य और भी ज्यादा गहरा गया है. वही जे.जे अस्पताल अस्पताल के डॉक्टरों ने इंद्राणी द्वारा दवा की अधिक मात्रा लेने की बात कही थी, वहीं फोरेंसिक लैब ने जांच के नमूनों में दवाइयों के अंश मिलने की बात से इनकार किया है. जेजे अस्पताल के डीन डॉ. टीपी लहाने ने बताया कि हिंदुजा अस्पताल से इंद्राणी के मूत्र के सेम्पल की एक रिपोर्ट में उनके शरीर में अवसाद रोधक दवा 'बेंजोडाइजेपाइन' का स्तर मात्रा से अधिक होने की पुष्टि हुई है.

लहाने ने साथ ही बताया, आम तौर पर अगर कोई भी मरीज अवसाद रोधी दवा ले रहा है तो उसके मूत्र में बेंजोडाइजेपाइन का स्तर 200 होता है. लेकिन हिंदुजा अस्पताल की रिपोर्ट के अनुसार, बेंजोडाइजेपाइन का स्तर 2088 पाया गया था जो की मात्रा से अधिक था. दवा की अधिक खुराक के लिए रिपोर्ट पूरी तरह पॉजिटिव है. वही मिर्गी रोधक दवाओं को पहले ही नकारा जा चुका है.

(जांच के) परिणाम पूरी तरह नकारात्मक रहे, केवल अवसाद रोधक दवा के कारण ही इन्द्राणी बेहोश हुई. उन्होंने बताया कि कोलिनेस्टेराज का स्तर भी सामान्य मिला, जिससे अफीम के जहर की आशंका भी पूरी तरह खारिज होती है. आपको बता दे की 43 साल की इंद्राणी को बेहोशी की हालत में शुक्रवार को भायखला जेल से जे.जे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लहाने ने कल बताया था कि इंद्राणी मिर्गी की दवाएं ले रही थीं. 'हमें आशंका है कि उन्होंने अपनी मिर्गी की पूरी दवा एक साथ खा ली थी.