द्विपक्षीय बैठक करने UAE पहुंचे विदेश मंत्री जयशंकर, BAPS हिन्दू मंदिर का भी किया दौरा

द्विपक्षीय बैठक करने UAE पहुंचे विदेश मंत्री जयशंकर, BAPS हिन्दू मंदिर का भी किया दौरा
Share:

नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस जयशंकर रविवार (23 जून) को अपने संयुक्त अरब अमीरात (UAE) समकक्ष अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान के साथ व्यापक वार्ता करने के लिए अबू धाबी पहुंचे। जयशंकर ने अल नाहयान के साथ बैठक से पहले अबू धाबी में प्रतिष्ठित BAPS हिंदू मंदिर का दौरा किया, जहां दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों के अलावा गाजा की समग्र स्थिति पर विचार-विमर्श होने की उम्मीद है। 

जयशंकर ने इस साल 14 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन किए गए मंदिर के दौरे के तुरंत बाद एक्स पर पोस्ट किया कि, "आज अबू धाबी में बीएपीएस हिंदू मंदिर का दौरा करके धन्य हो गया। भारत-UAE मित्रता का एक स्पष्ट प्रतीक, यह दुनिया को एक सकारात्मक संदेश देता है और हमारे दोनों देशों के बीच एक सच्चा सांस्कृतिक सेतु है।" मंदिर में मंत्री ने BAPS (बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्तम संस्थान) के भिक्षुओं के साथ बातचीत की। यह वही संगठन है जिसने संयुक्त अरब अमीरात द्वारा दान की गई भूमि पर मंदिर का निर्माण किया है।

अल रहबा के पास अबू मुरीखा में 27 एकड़ भूमि पर स्थित बीएपीएस हिंदू मंदिर, शिल्प कौशल का एक अद्भुत प्रदर्शन है। इससे पहले दिन में, विदेश मंत्रालय (MEA) ने कहा कि जयशंकर की संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) यात्रा भारत और UAE के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी के साथ-साथ क्षेत्रीय और वैश्विक विकास के पूरे स्पेक्ट्रम की समीक्षा करने का अवसर प्रदान करेगी। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "यात्रा के दौरान विदेश मंत्री अपने UAE समकक्ष के साथ साझेदारी के व्यापक मुद्दों पर बैठक करेंगे।"

लगभग 3.5 मिलियन की संख्या वाला जीवंत भारतीय समुदाय संयुक्त अरब अमीरात में सबसे बड़ा प्रवासी समूह है। पिछले कुछ वर्षों में भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच संबंधों में काफी प्रगति हुई है। अगस्त 2015 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की संयुक्त अरब अमीरात की ऐतिहासिक यात्रा के बाद, दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ गए। दोनों देशों ने आर्थिक जुड़ाव को बढ़ावा देने के लिए फरवरी 2022 में एक ऐतिहासिक व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौते (CEPA) पर हस्ताक्षर किए।

व्यापार समझौता अनेक लाभ प्रदान करता है, जिनमें टैरिफ का उन्मूलन और कमी, खुले व्यापार वातावरण को बढ़ावा देना, तथा विभिन्न क्षेत्रों में सेवा प्रदाताओं के लिए बाजार पहुंच को बढ़ाना शामिल है। 2022-23 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मामले में यूएई भारत में शीर्ष चार निवेशकों में भी शामिल है।

पादरी का गला रेता, 15+ पुलिसकर्मियों को गोलियों से भूना, रूस के मुस्लिम इलाके में आतंकी हमला, कई लोगों की मौत

'शालिग्राम तोमर ने एक-एक छात्र को गढ़ने का कार्य किया', बोले CM मोहन यादव

भर्तृहरि महताब ने ली प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ, संसद सत्र के पहले ही दिन विरोध में उतरी कांग्रेस, TMC और DMK

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -