'देश की संसद में पहली बार सांसदों को पीटा गया...', राहुल गांधी ने सरकार पर लगाए संगीन आरोप

नई दिल्ली: संसद के मॉनसून सत्र का समापन होने के बाद गुरुवार को विपक्षी पार्टियों द्वारा संयुक्त मार्च निकाला गया. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में निकाले गए इस मार्च में एक दर्जन से अधिक सियासी दल शामिल हुए. इस दौरान राहुल गांधी ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाया और सदन में सांसदों के साथ दुर्व्यवहार किए जाने की बात कही. 

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा कि पहली बार राज्यसभा में सांसदों की पिटाई की गई, बाहर से लोगों को बुलाया गया और सांसदों के साथ हाथापाई की गई. सदन को चलाने की जिम्मेदारी राज्यसभा के चेयरमैन की है, विपक्ष की बात सदन में क्यों नहीं रख सकते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि देश का पीएम आज देश को बेचने का कार्य कर रहा है, दो-तीन उद्योगपतियों देश की आत्मा बेची जा रही है. आज विपक्ष संसद के अंदर कोई भी बात नहीं कर सकता है. राहुल गांधी ने कहा कि देश के 60 प्रतिशत लोगों की आवाज को दबाया जा रहा है, राज्यसभा में सांसदों के साथ बदसलूकी की गई है.

राहुल ने कहा कि हमने सरकार से पेगासस मुद्दे पर चर्चा करने की बात कही, हमने किसानों, महंगाई पर चर्चा की मांग की, लेकिन सरकार ने नहीं सुना, ये लोकतंत्र की हत्या है.  बता दें कि कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने गुरुवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर लोगों को सम्बोधित किया. राहुल ने कहा कि आज देश में संविधान पर हमला किया जा रहा है. राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी किसानों पर अत्याचार करते हैं, नोटबंदी-GST लागू करके छोटे उद्योगों को समाप्त कर दिया. देश की संसद में पहली बार सांसदों की पिटाई की गई. 

टाइम्स स्क्वायर पर सबसे बड़ा तिरंगा फहराएंगे भारतवंशी

संबंधों को मजबूत करने के लिए इजरायल और मोरक्को ने किए तीन सहयोग समझौतों पर हस्ताक्षर

ऑस्ट्रेलियाई राजधानी कैनबरा में लगा लॉकडाउन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -