ऐसा क्या हुआ कि ग्रामीणों ने की तेंदुए को आदमखोर घोषित कर मारने की मांग

अल्मोड़ा : जिले के बमनगांव में रविवार शाम तेंदुए ने घर की चौखट पर खड़ी वृद्धा पर हमला कर दिया। इस दौरान निकट खड़ी बहू ने सास का एक पैर पकड़कर उसे तेंदुए से छुड़ाने का भरसक प्रयास किया। काफी देर संघर्ष करने के बावजूद तेंदुआ सास की गर्दन पकड़कर उसे उठा ले गया। बहू तेंदुए के पीछे भी भागी, लेकिन सास को नहीं बचा पाई। ग्रामीणों ने तेंदुए को आदमखोर घोषित कर मारने की मांग की है। उन्होंने मांग पूरी न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

तेंदुए के पीछे भागा परिवार 

ग्रामीणों ने बताया बमनगांव निवासी गोविंदी देवी (70) पत्नी तारादत्त जोशी रविवार देर शाम करीब पौने सात बजे पूजा करने के बाद जैसे ही घर की चौखट पर पहुंची, तेंदुआ उस पर झपट पड़ा। पास खड़ी बहू गीता ने सास की एक टांग पकड़कर उसे तेंदुए से बचाने के लिए काफी देर तक संघर्ष किया। अंतत: तेंदुआ वृद्धा की गर्दन पकड़कर उसे नीचे के खेतों की तरफ ले भागा। बहू भी शोर मचाते हुए तेंदुए के पीछे भागी।

जानकारी के मुताबिक गांव वालो के पहुंचने से पहले, तेंदुआ वृद्धा को मारकर घर से पांच खेत नीचे छोड़ गया। गाँव के प्रधान ने वनाधिकारियों को इसकी सूचना दी। द्वाराहाट के वन क्षेत्राधिकारी कि माने तो वह साथी कर्मचारियों के साथ घटना स्थल के लिए रवाना हो चुके हैं। तेंदुए ने 17 दिसंबर को भी बमनगांव के तोक सीमापानी के निकट हीरादेवी को मार डाला था।

इस कारण यंहा अब भी जारी है पुलिस सर्चिंग

पुडुचेरी में देश का पहला म्यूजियम पानी के अंदर बनेगा

जब पाकिस्तान इस्लामी राष्ट्र बना तो भारत को भी हिन्दू राष्ट्र होना चाहिए- मेघालय हाईकोर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -