बिजली आपूर्ति के लिए 65 लाख करोड़ रुपए का निवेश करेगा भारत : पीयूष गोयल

Feb 10 2016 12:23 PM
बिजली आपूर्ति के लिए 65 लाख करोड़ रुपए का निवेश करेगा भारत : पीयूष गोयल

बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने जानकारी दी कि भारत द्वारा अपने बिजली संबंधी बुनियादी ढांचे को दुरूस्त बनाने के लिए साल 2030 तक लगभग 65 लाख करोड़ रुपए का निवेश किए जाने की संभावना है. भारत दुनिया का सबसे बड़ा ऊर्जा उपभोक्ता देश है. ऐसे में भारत अपने नागरिकों को चौबीसों घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लक्ष्य के तहत यह सब कर रहा है. पीयूष गोयल ने जानकारी दी कि देश का बिजली क्षेत्र महत्वपूर्ण मोड़ पर है और शुल्क दरों व ईंधन कीमतों की नीतियों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित है ताकि देश में व्यापार को बढावा दिया जा सके.

आपको बता दे यह बात पीयूष गोयल ने भारत-ऑस्ट्रेलिया ऊर्जा संवाद के अवसर पर कही. उन्होंने आगे कहा कि दुनिया में इस समय आर्थिक माहौल काफी नरम है और लगभग वृद्धि न के बराबर है, ऐसे में भारत आशा की किरण बना हुआ है. और ऐसे में हम इस छवि का इस्तेमाल करेंगे और इसे और भी ज्यादा मजबूत बनाते हुए आस्ट्रेलिया जैसे देशों को अपने यहां निवेश करने के लिए आमंत्रित करेंगे.

भारत की 2022 तक 175 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता की योजना है. साथ ही एक लाख मेगावाट सौर ऊर्जा, 2,60,000 गीगावाट तापीय व परमाणु ऊर्जा तथा 62,000 मेगावाट पनबिजली उत्पादन करने का लक्ष्य रखा है. अनुमानों के अनुसार भारत 2015 से 2040 के दौरान टीएंडडी नेटवर्क में 845 अरब डॉलर का निवश करेगा ताकि उपभोक्ताओं को नियमित बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके.