नर्मदा में नहाते समय फिसला पैर, हादसे में गई जान

इंदौर/ब्यूरो। बड़वाह की नावघाटखेड़ी अंतर्गत डेहरिया क्षेत्र के नर्मदा तट स्थित शास्त्री जी के आश्रम में इंदौर से आया एक युवक नहाते समय डूब गया। करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद नाविकों ने उसके शव को कुछ दूरी पर नर्मदा में बाहर निकाल लिया है। वहीं घटना रविवार सुबह करीब 11.30 बजे की है।
जानकारी के अनुसार इंदौर के गोकुल दांगी परिवार की ओर से आश्रम में एक माह तक के लिए अनुष्ठान करवाया गया था। 

उसकी पूर्णा हुति पर दांगी अपने पूरे परिवार व स्टाफ के साथ यहां आए थे।इसी स्टाफ में 21 वर्षीय कमलेश पटेल मूल निवासी सतना व हाल मुकाम इंदौर बिना किसी को बताए रामघाट पर नहाने चला गया था। कमलेश दो अन्य साथियों के साथ स्नान कर रहा था। ओंकारेश्वर बांध की ओर से लगातार जल छोड़ने के कारण नर्मदा का जल स्तर व वेग भी बढ़ गया था। यही कारण है की कमलेश का नहाते समय अचानक पैर फिसल गया और वह डूबने लगा। 

साथी सदस्यों को लगा की वह मजाक कर रहा है, लेकिन जब कुछ देर तक वह बाहर नहीं आया तो उन्होंने घबराकर पूजन कर रहे अन्य लोगों को मामले की जानकारी दी। पानी अधिक होने के कारण गोताखोरों को बुलाया गया। जिसके बाद बाबूलाल मंगले, प्रदीप केवट व राजू पटेल की टीम के सदस्यों ने गोता लगाया। यहां घाट से कुछ दूरी पर ही झाड़ियों में उसका शव अटका हुआ मिला। जिसके बाद शव को बाहर निकालकर पीएम के लिए बड़वाह के शासकीय अस्पताल लाया गया।

झंडा वंदन की तैयारियों के बीच शख्स ने फोड़ा बम, 2 लोगों की मौत

इंदौर में तिरंगे का अपमान, ड्रेनेज के पास जफ़र-इमरान ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज

बिना सहमति नहीं होगा भूमि अधिग्रहण, सीएम ने किया ऐलान

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -