गर्मियों में शरीर के लिए जहर हैं ये चीजें!

गर्मी के मौसम (Summer Season) में शरीर का हाइड्रेटेड (Hyderate) करना बहुत जरुरी है। जी दरअसल भीषण गर्मी से लड़ने और अपने स्वास्थ्य (Health) को बेहतर बनाए रखने के लिए मौसम में तरल पदार्थ (Fluids) और अन्य हाइड्रेटिंग खाद्य पदार्थों (Hyderating Food Items) का सेवन करना जरुरी है। ऐसे में गर्मी में प्यास न होने पर भी पानी का सेवन डिहाइड्रेशन (Dehyderation) से लड़ने में मदद कर सकता है। इसके अलावा अपने नाश्ते को चुनना और अपने डाइट प्लान को सोच-समझकर बनाना भी महत्वपूर्ण है।

इसके अलावा कुछ ऐसी खाने की चीजें हैं जो भले सर्दी के मौसम में शरीर के लिए फायदेमंद हो सकती है, लेकिन हीटवेव (Heatwave) की स्थिति या गर्म मौसम में इनका सेवन हानिकारक साबित होता है। जी दरअसल कई विशेषज्ञों का कहना है इस मौसम में हमें अपने शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए गर्मियों में कुछ चीजों का सेवन कम या बिल्कुल बंद कर देना चाहिए। आज हम आपको उन्ही चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन हमें गर्मियों के दौरान न के बराबर करना चाहिए।

कॉफी- कॉफी जैसे कैफीनयुक्त पेय को पीने से बार-बार पेशाब आती है, जिसके कारण हमारे शरीर में पानी की कमी हो सकती है। वैसे तो दुनियाभर के लोग कॉफी पीना पसंद करते हैं और यह हमारी दिनचर्या का हिस्सा बन गया है, हालाँकि इसी के साथ ही यह भी पता होना चाहिए कि कैफीन आपकी किडनी में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है, जिससे उन्हें अधिक पानी बाहर निकालने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है जिससे बार-बार पेशाब आती है और अतिरिक्त पानी शरीर से बाहर निकलता है जो डिहाइड्रेशन का कारण बन सकता है।

शराब- शराब और इसके डेरिवेटिव में डिहाइड्रेशन गुण भी होते हैं जो मानव शरीर में पानी की कमी का कारण बन सकते हैं। जी दरअसल बहुत सारी शराब पीने के बाद, आप देख सकते हैं कि आपके शरीर से पीला पेशाब निकलता है जो डिहाइड्रेशन का एक लक्षण है।

हाई प्रोटीन फूड- हाई प्रोटीन भोजन भी आपको डिहाइड्रेटेड महसूस करा सकता है। जी दरअसल प्रोटीन में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले नाइट्रोजन को मेटाबोलाइज करने के लिए शरीर अधिक पानी का उपयोग करता है, जिसके कारण कोशिकाएं पानी की मात्रा को काफी कम कर सकती हैं, जिससे आप डिहाइड्रेटेड महसूस करते हैं।

चाय- चाय में कैफीन की मात्रा के कारण डिहाइड्रेशन भी हो सकता है।

डार्क चॉकलेट- डार्क चॉकलेट में मिल्क चॉकलेट और व्हाइट चॉकलेट दोनों की तुलना में कैफीन की मात्रा अधिक होती है। ऐसे में बड़ी मात्रा में डार्क चॉकलेट का सेवन करने से हार्ट बीट में तेजी, डायरिया, चिंता, चिड़चिड़ापन, घबराहट और डिहाइड्रेशन हो सकता है।

प्राकृतिक तरीके से करें बॉडी को डिटॉक्‍स, ये हैं इसके फायदे

मलेरिया से लेकर मधुमेह तक के लिए असरदार है नीम, जानिए इसके बेजोड़ फायदे

बनानी है चटपटी सलाद तो एक बार जरूर ट्राय करें मसाला चना सलाद

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -