गर्मी के मौसम में ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के लिए एक बार जरूर अपना लें ये ट्रिक्स

गर्मी के मौसम में ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के लिए एक बार जरूर अपना लें ये ट्रिक्स
Share:

ऑयली स्किन वाले लोगों को अक्सर कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, खास तौर पर गर्मियों के महीनों में जब नमी बढ़ जाती है। हवा में नमी की वजह से त्वचा के रोमछिद्र फैल जाते हैं, जिससे सीबम का उत्पादन बढ़ जाता है। यह अतिरिक्त तेल त्वचा को चिकना बनाता है और धूल और गंदगी को आकर्षित करता है, जो रोमछिद्रों को बंद कर सकता है। बंद रोमछिद्रों में तेल अंदर ही फंस जाता है, जिससे मुंहासे और मुहांसे होते हैं।

हालांकि बाजार और ऑनलाइन कई स्किनकेयर उत्पाद और उपचार उपलब्ध हैं जो तैलीय त्वचा से राहत दिलाने का वादा करते हैं, लेकिन वे सभी के लिए एक जैसे काम नहीं कर सकते हैं। हालांकि, हमारे पास कुछ प्रभावी घरेलू उपचार हैं जो कम से कम साइड इफ़ेक्ट के साथ तैलीय त्वचा को ठीक करने में मदद कर सकते हैं। आइए इन उपायों के बारे में जानें।

1. नींबू का रस
नींबू का रस साइट्रिक एसिड से भरपूर होता है, जो इसे तैलीय त्वचा के लिए एक प्राकृतिक उपचार बनाता है। यह अतिरिक्त तेल को सोखने में मदद करता है और तैलीय त्वचा से जुड़े मुंहासों को रोकता है। नींबू के रस में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट त्वचा से विषाक्त पदार्थों और अशुद्धियों को साफ करने में मदद करते हैं, जिससे मुंहासे और मुहांसे नहीं होते।

कैसे इस्तेमाल करें:
2 चम्मच नींबू के रस को 2 चम्मच पानी में मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और पानी से धोने से पहले इसे पूरी तरह सूखने दें। अगर आपके चेहरे पर पिंपल्स हैं, तो नींबू के रस में हल्दी मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे सीधे पिंपल्स पर लगाएं। सूखने के बाद सादे पानी से धो लें।

2. एलोवेरा जेल
एलोवेरा तैलीय त्वचा के इलाज के लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक उपचारों में से एक है। इसके कसैले गुण अतिरिक्त तेल को हटाने और सूजी हुई गांठों के आकार को कम करने में मदद करते हैं, जिससे मुंहासे नहीं निकलते। एलोवेरा के नियमित उपयोग से रोमछिद्र कस जाते हैं, जिससे तेल का उत्पादन कम होता है।

कैसे उपयोग करें:
एलोवेरा जेल को दिन में दो से तीन बार सीधे अपने चेहरे पर लगाएं। ठंडे पानी से धोने से पहले इसे 20-30 मिनट तक लगा रहने दें। एक बेहतरीन एक्सफोलिएटिंग पैक के लिए एलोवेरा को ओटमील के साथ मिलाएं।

3. खीरा
खीरा सभी प्रकार की त्वचा के लिए फायदेमंद कई प्राकृतिक उपचार प्रदान करता है। तैलीय त्वचा के लिए, इसके कसैले गुण खुले रोमछिद्रों को कसने में मदद करते हैं। खीरे में मौजूद विटामिन और मिनरल इसे एक शक्तिशाली क्लींजिंग एजेंट बनाते हैं, जिससे आपकी त्वचा मुलायम और कोमल बनती है।

उपयोग कैसे करें:
खीरे का रस अपने चेहरे पर लगाएँ। खीरे को कद्दूकस करके हाथ से निचोड़कर या खीरे के टुकड़ों को मिलाकर मिश्रण को छानकर रस निकालें। अधिक प्रभाव के लिए खीरे के रस में नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएँ।

4. मुल्तानी मिट्टी (फुलर की मिट्टी)
मुल्तानी मिट्टी एक प्राकृतिक मिट्टी है जो तैलीय त्वचा को खत्म करने में मदद करती है। खनिजों से भरपूर, यह त्वचा से अतिरिक्त तेल, पसीना, गंदगी और अन्य अशुद्धियों को सोख लेती है। यह त्वचा को कसती है, नमी बनाए रखती है और आपकी त्वचा को चमकदार बनाती है।

उपयोग कैसे करें:
एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी को गुलाब जल के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें। अगर गुलाब जल उपलब्ध न हो, तो सादे पानी का इस्तेमाल किया जा सकता है। पेस्ट को अपनी त्वचा पर लगाएँ और ठंडे पानी से धोने से पहले सूखने दें। आप इसका नियमित रूप से इस्तेमाल कर सकते हैं।

ये प्राकृतिक उपचार तैलीय त्वचा को नियंत्रित करने के प्रभावी और किफ़ायती तरीके प्रदान करते हैं। नींबू का रस, एलोवेरा, खीरा और मुल्तानी मिट्टी जैसी रसोई की आम सामग्री का उपयोग करके आप तेल के उत्पादन को नियंत्रित कर सकते हैं और साफ़, स्वस्थ त्वचा बनाए रख सकते हैं।

घर पर ही करें ये हेयर ट्रीटमेंट, मिलेंगे लंबे और मुलायम बाल

मूड बूस्ट करने से लेकर इम्यूनिटी मजबूत करने तक, जानें लेमन ग्रास के फायदे

इन 5 कारणों से पीरियड्स के पहले हो सकती है स्पॉटिंग, ना करें अनदेखा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -