मौसम की मार: दिल्ली झुलसी, त्रिपुरा डूबा

आगरतला: वर्ष 2018 में मौसम भारत के लिए अच्छा प्रतीत नहीं हो रहा है, देश भर में मौसम की उथल -पुथल से तबाही मची हुई है, कहीं बारिश, कहीं गर्मी तो कहीं आंधी तूफ़ान, हर जगह मौसम के तांडव ने सैकड़ों जिंदिआगियां निगल ली हैं. गर्मी के मौसम में देश की राजधानी तपते हुए 44 डिग्री तक पहुँच गई है, वहीं उत्तर पूर्वी राज्य त्रिपुरा में बाढ़ के कारण 6 लोगों की मौत हो गई है.

त्रिपुरा में हज़ारों लोगों के घर, पानी में बह गए, दाना-पानी और बुनियादी जरुरी वस्तुएं भी जलमग्न हो गई हैं. त्रिपुरा में खतरा अभी भी टला नहीं है, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में भारी बारिश के चेतावनी ज़ाहिर की है. जिसके बाद से बाढ़ की चपेट में आ सकने वाले गाँव खाली करा दिए गए हैं और लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाने का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है.

मुख्यमंत्री विप्लव देव ने अपने विधानसभा क्षेत्र बनामालीपुर में बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा भी किया. सीएम ने मृत परिवारों को 5 लाख रुपये की सहायता देने का ऐलान किया, जबकि जिनके घर तबाह हो गए हैं उन्हें एक लाख रुपये दिए जाएंगे. सीएम ने कहा है कि सरकार बाढ़ से प्रभावित लोगों की हर संभव सहायता करेगी. 

यूपी में तूफ़ान का तांडव, 3 लोगों की मौत

उत्तर भारत में खतरा टला नहीं है- मौसम विज्ञान

मानसून सूचना : उत्तराखंड में उम्मीद से पहले बरसेंगे बदल,एक हफ्ते पहले आएगा मानसून

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -