जामनगर में भारी बारिश से हाहाकार, खतरे में पड़ी लोगों की जान

जामनगर​: कोरोना के अलावा देश के राज्यों में भारी बारिश ने आतंक मचा रखा है इस बीच गुजरात में वर्षा तथा बाढ़ से स्थिति ऐसी हैं कि जीवन पर संकट छाया है। सड़कों पर सैलाब के बीच कारें बह रही हैं, घर-मकान डूब गए हैं। गुजरात में सैलाब ने ऐसा हमला किया है कि हर किसी की सांसें अटक गई हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए हेलिकॉप्टर तक उतारने पड़े हैं। 

वही गुजरात के जामनगर, राजकोट तथा जूनागढ़ में सर्वाधिक वर्षा के चलते बाढ़ जैसे हालात हो गए है। सबसे खराब स्थिति जामनगर की हैं। जहां 35 गांवों का संपर्क ही कट गया है। NDRF की 6 टीमें तथा एयरफोर्स के 4 हेलिकॉप्टर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे हैं। जिससे बाढ़ में फंसे व्यक्तियों को सुरक्षित निकाला जा सके। वही निरंतर वर्षा के चलते जामनगर जिले में 18 बांध ओवरफ्लो हो चुके हैं। कई क्षेत्र पूर्ण रूप से पानी में डूबे हुए हैं। कई क्षेत्रों में मकानों की पहली मंजिल तक पानी भर गया है। बाढ़ से बचाव के लिए अधिकांश लोग अपने मकानों की छतों पर शरण लिए हुए हैं। NDRF की टीम घर में फंसे व्यक्तियों को निकाल रही है।

साथ ही सर्वाधिक वर्षा की वजह से जामनगर तथा आस-पास के क्षेत्रों में नदियां उफान पर हैं। कई स्थान पर नदियां खतरे का निशान पार कर चुकी हैं। ऐसे में आसपास के व्यक्तियों को बहुत समस्यां हो रही है। स्थिति को देखते हुए कई गांवों को सतर्क किया गया है। साथ ही व्यक्तियों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है। वर्षा से राजकोट का भी हाल बेहाल है। राजकोट के कई क्षेत्रों में सैलाब ही सैलाब दिखाई दे रहा है। रस्सी के सहारे पानी में फंसे व्यक्तियों को निकाला जा रहा है। इस बीच आईएमडी ने अगले 4-5 दिनों के लिए गुजरात में सर्वाधिक वर्षा का अलर्ट भी जारी किया है।

जानिए सुपरस्टार रजनीकांत को कैसी लगी कंगना की फिल्म 'थलाइवी'?

बिना जिम और योग के आखिर कैसे इतनी दुबली हो गईं भारती सिंह, खुद खोला राज

अफ़ग़ानिस्तान में 'आतंक राज' के बाद काबुल में लैंड हुआ पहला यात्री विमान

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -