झंडारोहण को लेकर मुस्लिम गर्ल्स स्कूल में फैला तनाव

Jan 26 2016 10:55 AM
झंडारोहण को लेकर मुस्लिम गर्ल्स स्कूल में फैला तनाव

ग्रेटर नोएडा : गणतंत्र दिवस के मौके पर ध्वजारोहण को लेकर ग्रेटर नोएडा के दनकौर में एक मुस्लिम गर्ल्स स्कूल में तनाव पैदा हो गया है। दरअसल स्कूल में कुछ कट्टरपंथियों ने झंडा फहराने का विरोध किया है। साथ ही देश के इन दुश्मनों ने आधुनिक शिक्षा जैसे हिंदी और अंग्रेजी पढ़ाए जाने का भी सख्त विरोध करते हुए स्कूल प्रशासन को कड़ी चेतावनी दी है।

बता दें कि यह मुस्लिम गर्ल्स स्कूल 2011 से उतर प्रदेश सरकार के अल्प संख्यक कल्याण विभाग के अंतर्गत आता है। सोमवार को स्कूल में झंडा फहराने की तैयारी करते हुए कुछ लोग रॉड व अन्य बाकी जरुरी सामान लेकर स्कूल पहुंचे तो कुछ कट्टरपंथाी वहां आ गए और झंडा फहराने पर भयानक परिणाम भुगतने की चेतावनी दी। इसके बाद किसी भी तरह का रिस्क न लेते हुए प्रशासन वहां तुरंत मुस्तैद हो गई।

हद तो तब हो गई जब इन कट्टरपंथियों को पुलिस ने थाने में बुलाया तो वहीं हिंदी व अंग्रेजी पढ़ाए जाने का विरोध करने लगे। इसके बाद पुलिस ने भी इन चरमपंथियों को कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि यदि गणतंत्र दिवस के मौके पर स्कूल में झंडा फहराने में उन्होने किसी प्रकार का अड़ंगा लगाया तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते है। दनकौर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर चक्रपाणी शर्मा ने बताया कि किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नही दी जाएगी। 

उन्होने कहा कि कुछ अनपढ़ लोगों ने स्कूल में ध्वजारोहण कार्यक्रम का विरोध किया है। जिसकी जानकारी आला अधिकारियों को दे दी गई है। साथ ही ध्वजारोहण के दौरान किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है। गर्ल्स स्कूल के सचिव आदिल खान जयसवाल ने बताया कि साल 2011 से स्कूल वक्फ बोर्ड के अधीन है, जहां 5वीं तक की शिक्षा दी जाती है। 

उन्होने बताया कि पिछले कुछ दिनों से कुछ स्थानीय लोग स्कूल में हिंदी व अंग्रेजी पढ़ाए जाने का विरोध कर रहे है। उन्होने बताया कि इनके डर से शिक्षक स्कूल आने से डरते है। इसकी शिकायत भी मुख्यमंत्री, राज्यपाल से लेक जिला न्यायधीश तक की जा चुकी है।