गुजरात में मिला पांच हज़ार साल पुराना कब्रिस्तान, चल रहा कंकालों का अनुसन्धान

अहमदाबाद: गुजरात के कच्‍छ जिले में दो माह की खुदाई के बाद पुरातत्‍वविदों को हड़प्पा सभ्‍यता के काल का एक विशाल कब्रिस्‍तान मिला है। धौलावीरा से करीब 360 किलोमीटर दूर इस जगह पर 250 से अधिक कब्रें हैं जो लगभग 5 हजार साल पुरानी हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि इससे इस संभावना को बल मिलता है कि किसी वक़्त में यहां मनुष्‍यों की अच्‍छी-खासी आबादी रहती थी। 

कच्‍छ जिले के लखपत तहसील के खाटिया ग्राम में यह खुदाई कच्‍छ यूनिवर्सिटी और केरल यूनिवर्सिटी ने मिलकर की है। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि यहां मिली 250 से अधिक कब्रें 4,600-5,200 साल पुरानी हैं। यह कब्रिस्‍तान 300मीटर x 300मीटर आकार का है। इनमें से अभी तक 26 कब्रों की खुदाई की जा चुकी है। इनमे सबसे बड़ी कब्र 6.9 मीटर की है, जबकि सबसे छोटी 1.2 मीटर की बताई जा रही है। पुरातत्‍वविदों को यहां की एक कब्र से छह फुट लंबा एक मानव कंकाल प्राप्त हुआ है, यह करीब 5 हजार साल पुराना है।

कच्‍छ यूनिवर्सिटी के पुरातत्‍व विभाग के प्रमुख सुरेश भंडारी ने बताया है कि, 'इस कंकाल को केरल यूनिवर्सिटी ले जाया गया है। यहां उसकी उम्र, लिंग और मृत्‍यु के संभावित कारणों का पता लगाया जाने का प्रयास किया जा रहा है।'  पहली मर्तबा गुजरात में आयताकार कब्रिस्‍तान मिला है। इससे पहले मिले कब्रिस्‍तान गोलाकार या अर्द्धगोलाकार आकार के थे। इन कब्रों में मानव कंकाल के साथ ही बच्‍चों की कब्रें और जानवरों के अवशेष प्राप्त हुए हैं। खुदाई में सीपी से बने कंगन, पत्‍थर की पुरानी चक्कियां, पत्‍थर के ब्‍लेड भी मिले हैं। 

खबरें और भी:-

इस मंदिर में की जाती है खंडित शिवलिंग की पूजा

30 साल का हुआ 'www', गूगल ने बनाया खास डूडल

इस रेस्टोरेंट में आकर कर सकते हैं तोड़फोड़ और निकाल सकते हैं भड़ास

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -