मछुआरे को मिला शार्क का बच्चा, तस्वीर देख हैरान रह जाएंगे आप

Feb 24 2021 02:55 PM
मछुआरे को मिला शार्क का बच्चा, तस्वीर देख हैरान रह जाएंगे आप

विश्व में आश्चर्यों की कमी नहीं है. वहीं बात जब समुद्र या नदी की आती है, तो यह अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कि गहरे पानी में क्या है और वह चीज कितनी खतरनाक हो सकती है. कई बार पानी से मिली हुईं चीजें बहुत बार हम सभी के होश भी उड़ा देती है. ऐसा ही एक केस इंडोनेशिया (Indonesia) के तट से सुनने को मिला है. यहां एक मछुआरे को शार्क का एक दुर्लभ शक्ल वाला बच्चा मिला है. वहीं इसे यहां दुर्लभ इसलिए बोला जा रहा है, क्योंकि इस शार्क की शक्ल इंसान से  बहुत ही मेल खाती है.  तो चलिए जानते है इसके बारें में..... 

48 वर्ष  के मछुआरे अब्दुल्लाह नुरेन (Abdullah Nuren) अपना कार्य कर रहे थे. वे पूर्वी नुसा टेंगारा प्रांत के रोटे डाओ के नजदीक थे. इस बीच उनके जाल में एक बड़ी शार्क मछली पकड़ ली. इस बीच उन्हें अंदाजा नहीं था कि उनका सामना एक आश्चर्य से भरा हुआ है. जब बाद में उन्होंने मछली को काटा, तो उसके अंदर तीन बच्चे पल रहे थे. इन तीन बच्चों में से दो की शक्ल को सामान्य थी, लेकिन एक बच्चा इंसान की तरह दिखाई दे रहा था. वहीं विशेषज्ञ इसे म्यूटेशन का केस बता रहे हैं.

इस बच्चे की आंखें गोल और बड़ी थीं. नुरेन का कहना हैं 'शुरुआत में मुझे एक मादा शार्क जाल में मिली. अगले दिन मैंने उसे काटा, तो उसके अंदर 3 बच्चे थे.' उन्होंने कहा 'दो अपनी मां की तरह दिख रहे थे. जबकि, एक की शक्ल इंसान की तरह थी.' इस मछली के मिलने के उपरांत  उनके आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा. इतना ही नहीं, जो भी इस मछली को देख रहा है, वो भी चौक गया है.

जंहा इस बात का पता चला है कि नुरेन मछली के बच्चे को लेकर घर पहुंचे, जहां उनके परिवार ने उसे संभालने में उसकी सहायता की. उनके पड़ोसी भी घर में इस नए खास और अनोखे मेहमान को देखकर उत्साहित हैं. नुरेन बताते हैं कि कई पड़ोसियों ने तो उस बच्चे को खरीदने की भी पेशकश की. हालांकि, उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया है. उन्होंने बताया कि कई लोग इसे खरीदना चाहते हैं, लेकिन मैं इसे रखूंगा.

क्या ट्विंकल खन्ना पर है किसी शैतान का साया? बेटे आरव ने पोस्ट शेयर कर लिखी ये बात

सोलरविंड्स हमलावरों ने नासा, फेडरल एविएशन एडमिन नेटवर्क को बनाया अपना निशाना

ममता बनर्जी की मोदी को दो टूक, कहा- बंगाल जीतना उतना आसान नहीं, यहाँ गोलकीपर मैं हूँ