राजकोषीय घाटा पहुंचा 4.3 लाख करोड़ तक