11 वर्षीय लड़की में कोरोना से संबंधित मस्तिष्क तंत्रिका क्षति का पहला मामला आया सामने

Oct 20 2020 02:12 PM
11 वर्षीय लड़की में कोरोना से संबंधित मस्तिष्क तंत्रिका क्षति का पहला मामला आया सामने

कोरोनावायरस जो पूरी दुनिया में कहर बरपा रहा है, अब हमारे लिए मुश्किलें खड़ी कर रहा है। एक नए मामले में, घातक वायरस ने 11 साल की लड़की में मस्तिष्क तंत्रिका क्षति को भड़काया है, जिससे धुंधला दृष्टि पैदा होती है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्टों के मुताबिक, एम्स दिल्ली से इस तरह का पहला मामला सामने आया है। बाल न्यूरोलॉजी डिवीजन में डॉक्टर लड़की की स्वास्थ्य स्थिति पर एक रिपोर्ट बना रहे हैं। रिपोर्ट के मसौदे में कहा गया है, "हमने 11 साल की बच्ची में COVID-19 संक्रमण-प्रेरित एक्यूट डमीलाइजिंग सिंड्रोम (ADS) पाया है। यह पहला मामला है जो बाल आयु वर्ग में रिपोर्ट किया गया है।"

एम्स में बाल रोग विभाग की प्रमुख, बाल न्यूरोलॉजी प्रभाग की प्रमुख शेफाली गुलाटी ने एचटी को बताया कि लड़की उनके पास दृष्टि की कमी के साथ आई थी। एमआरआई (चुंबकीय अनुनाद इमेजिंग) ने एडीएस दिखाया, जो एक नई अभिव्यक्ति है। हालांकि, वे जानते हैं कि वायरस मस्तिष्क और फेफड़ों को प्रमुख रूप से प्रभावित करता है। उन्होंने कहा, "हमने इस मामले की रिपोर्ट प्रकाशित करने की योजना बनाई है क्योंकि हमने स्थापित किया है कि उनकी स्थिति कोरोना संक्रमित थी।"

एडीएस में स्वास्थ्य स्थितियां शामिल हैं जो माइलिन, मस्तिष्क संकेतों को नुकसान पहुंचाती हैं और तंत्रिका संबंधी कार्यों को प्रभावित करती हैं। मायलिन एक सुरक्षात्मक परत है जो तंत्रिकाओं को कवर करती है रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि लड़की की स्वास्थ्य की स्थिति इम्यूनोथेरेपी के साथ बेहतर हुई, और उसे अपनी दृष्टि का लगभग 50 प्रतिशत पुन: प्राप्त करने के बाद छुट्टी दे दी गई।

धनवान बनने के लिए करें ये काम

दुनियाभर में केवल 112 लोग करते हैं यह जॉब, जानिए कौन सा काम करते हैं ये प्रोफेशनल्स

यहाँ गिरा था माता सती के सीधी आंख की पुतली का तारा, जानिए महत्व