देश विरोधी नारे लगाने वाले जेएनयू छात्र नेता उमर खालिद पर फायरिंग

नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्र उमर खालिद पर दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब के बाहर हमला हुआ है. एक अज्ञात आदमी उमर खालिद पर गोली चलकर फरार हो गया, हालाँकि इस हमले से खालिद को कोई चोट नहीं आई है. 

JNU में पकौड़ा तलते स्टूडेंट पर हुए यह कार्यवाई

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया है कि एक कार्यक्रम के बाद खालिद अपने दोस्तों के साथ एक चाय कि दूकान पर चाय पी रहा था, तभी एक सफ़ेद शर्ट पहने आदमी वहां आया, उसने खालिद को धक्का दिया और उसपर गोली चला दी. घटना के साक्षियों का कहना है कि धक्का देने से खालिद का संतुलन बिगड़ा और वह नीचे गिर गया, इसी वजह से हमलावर का निशाना चूक गया. उन्होंने कहा कि खालिद के दोस्तों ने हमलावर को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन उसने हवाई फायर किए और वहां से फरार हो गया. 

'एक देश एक चुनाव' : विधि आयोग के नाम अमित शाह का खुला खत

हालाँकि दिल्ली पुलिस ने किसी तरह की फायरिंग की घटना से इनकार किया है,  DCP नई दिल्ली मधुर वर्मा ने कहा है कि पिछले एक घंटे में कहीं भी कोई फायरिंग नहीं हुई है. कॉन्स्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया में ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट’ नामक संस्था ने ‘खौफ से आजादी’ नाम के कार्यक्रम का आयोजन किया था. जिसमें देश के कई प्रतिष्ठित समाजसेवी, पत्रकार और बुद्धिजीवी मौजूद हैं. 

 कौन है उमर खालिद ? 

9 फरवरी को देश विरोधी नारे लगाने का आरोप लगने के बाद उमर खालिद अचानक गायब हो गए थे, उन्हें पकड़ने के लिए दिल्ली पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की थी. जिसके बाद खबरें आई थी कि उनका संबंध आतंकी संगठन से है, ऐसी भी खबरें सामने आई थीं कि खालिद कई विश्वविद्यालयों में आतंकी अफजल गुरु का गुणगान करवाना चाहता था, जेएनयू जैसा कार्यक्रम उसने देश के 18 विश्वविद्यालयों में करने की योजना बनाई थी. हिन्दुओं के देवी-देवताओं का अपमान करने में भी खालिद का नाम आया था, जिसपर काफी बवाल भी मचा था. 

खबरें और भी:-

बिदर से राहुल का खुला चैलेंज, अगर 56 इंच की छाती हो तो मेरी चुनौती स्वीकार करें पीएम

बाढ़ और बारिश से देश भर में हुई कई मौतें, देश के कई हिस्सों में अभी भी अलर्ट

वीडियो : सोमनाथ चटर्जी को याद कर रो पड़ी सुमित्रा महाजन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -