गरीब सवर्णों को आरक्षण देने वाला पहला राज्य बना गुजरात

Jan 14 2019 08:35 AM
गरीब सवर्णों को आरक्षण देने वाला पहला राज्य बना गुजरात

अहमदाबाद : देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा बिल को मंजूरी देने के बाद गरीबों को आरक्षण देने वाला गुजरात पहला राज्य बन गया है। अब यहां आर्थिक आधार पर सवर्ण गरीबों को आरक्षण दिया जाएगा। यह आरक्षण शिक्षण संस्थानों और नौकरियों के लिए लागू होगा।

फ़ोन की कीमत 16,000 रु, साथ में 3000 रु की यह खास चीज बिलकुल मुफ्त

राष्ट्रपति की मिल चूकि है मंजूरी 

जानकारी के लिए बता दें कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सामान्य श्रेणी के आर्थिक रूप से कमजोर तबके को सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 10 फीसदी आरक्षण देने संबंधी विशेष प्रावधान को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी अधिसूचना में कहा गया कि संविधान अधिनियम, 2019 को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है।

भाजपा का समर्थन करने से बौखलाई एनसीपी, निष्काषित किए अपने 18 पार्षद 

एक नया प्रावधान जोड़ा गया

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार संविधान अधिनियम के जरिए संविधान के अनुच्छेद 15 और 16 में संशोधन किया गया है। इसके जरिए एक प्रावधान जोड़ा गया है जो राज्य को नागरिकों के आर्थिक रूप से कमजोर किसी तबके की तरक्की के लिए विशेष प्रावधान करने की अनुमति देता है। यह विशेष प्रावधान निजी शैक्षणिक संस्थानों सहित शिक्षण संस्थानों, चाहे सरकार द्वारा सहायता प्राप्त हो या न हो, में उनके दाखिले से जुड़ा है।

दो दिवसीय दौरे पर उज्बेकिस्तान पहुंची सुषमा स्वराज, भारत-मध्य एशिया वार्ता में होंगी शामिल

सिक्किम में अब हर परिवार के एक व्यक्ति को मिलेगी नौकरी, लागू हुई योजना

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों की बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकी