गर्म चिमटों से दागा, अंध विश्वास में गई जान

सुजानगढ़: राजस्थान के चुरू जिले के एक गाँव में बीमारी का झाड-फूंक से  इलाज कराने मन्दिर में गये व्यक्ति की चिमटों से दागने के कारण मौत हो गई. घटना की जानकारी मिलने पर अस्पताल में भीड़ लग गई. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है|

मिली जानकारी के अनुसार किशनलाल पुत्र भंवरलाल (50) निवासी वार्ड 25 शिवबाड़ी शुक्रवार को अपने घुटनों का इलाज कराने कालका माता मन्दिर गया था जहाँ महिला पुजारी लिछमा देवी पति सुखाराम जाट और उसके बेटे पवन कुमार ने लोहे के गर्म चिमटे शरीर में दागे. जिससे वह दर्द से तडपता रहा और तबीयत बिगड़ गई . हालत बिगड़ने पर पत्नी ने परिजनों को बुलाया. परिजन, किशन को अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई|

चश्मदीदों के अनुसार मृतक किशन के शरीर पर जगह-जगह गर्म चिमटे से दागने के निशान देखे गए हैं.पड़ोसियों से मिली जानकारी के अनुसार इस मन्दिर में अक्सर अंध विश्वास के चलते लोग झाड़-फूंक कराने आते रहते हैं.इसलिए यहाँ हमेशा भीड़ लगी रहती है| 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -