जांजगीर के मकान में लगी भीषण आग से दो बच्चों की मौत

जांजगीर : अकलतरा क्षेत्र के खिसोरा गांव में गुरुवार तड़के एक मकान में भीषण आग लगने से दो बच्चों की मौत हो गई। जबकि बच्चों के पिता और उनका चचेरा भाई भी गंभीर रूप से झुलस गया। दोनों को 90 फीसदी झुलसी हालत में सिम्स रेफर किया गया है। जहां पर उनके बचने की संभावना कम बताई जा रही है। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है, लेकिन पूरे मकान से केरोसीन की बदबू आ रही है। ऐसे में पिता के ऊपर ही आग लगाए जाने को लेकर अंदेशा जताया जा रहा है। 

मार्बल से भरे ट्रेलर में जा घुसा टैंकर आग लगने से जिंदा जला चालक

इस तरह हुआ हादसा 

जानकारी के अनुसार, खिसोरा गांव निवासी गोपी बंजारे अपने दो बच्चों वीर बंजारे (7) व विवेक (5) और भतीजे रौशन बंजारे के साथ एक ही कमरे में सो रहा था। जबिक गोपी का भाई घनश्याम बाहर सोया हुआ था। इसी दौरान तड़के करीब 3 बजे गोपी झुलसी हुई हालत में चिल्लाते हुए कमरे से बाहर निकला। शोर सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। इस दौरान सूचना मिलने पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की मौके पर पहुंच गई। 

रायगढ़ की एक मिल में देर रात लगी भीषण आग, कड़ी मशक्क्त के बाद पाया गया काबू

जलकर खाक हुआ मकान 

इसी के साथ हालांकि तब तक पूरा मकान जलकर खाक हो चुका था। पुलिस व फायर ब्रिगेड की टीम अंदर कमरे में घुसी तो देखा कि दो बच्चों का शव पड़ा हुआ है। जलती हुई छप्पर गिरने से दोनों बच्चों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। वहीं भतीजा रौशन गंभीर हालत में झुलसा हुआ पड़ा था। पुलिस ने गोपी व रौशन को एंबुलेंस से अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन हालत गंभीर देख दोनों को सिम्स रेफर कर दिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एडिशनल एसपी भी मौके पर पहुंच गईं। 

घाटी के सभी जिलों में भी होगा योग कार्यक्रमों का आयोजन

पीएम मोदी और बाबा रामदेव के साथ सेल्फी खींचकर इंटरनेशनल योग-डे मनाएंगे युवा

महाराष्ट्र के सतारा में महसूस किये गए भूपंक के दो झटके

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -