एसिड अटैक पीड़िता को निर्भया फंड के तहत दी गई आर्थिक सहायता

Oct 17 2020 09:08 AM
एसिड अटैक पीड़िता को निर्भया फंड के तहत दी गई आर्थिक सहायता

गुवाहाटी: एसिड अटैक देश के लिए बड़ी चिंता का मामला है। सरकार के प्रयासों के बाद भी तेजाब से हमले के मामले लगातार सामने आ रहे हैं।  हाल ही में लखीमपुर जिले के लललक थाना अंतर्गत बीच-इस्लामगांव में एक परिवार पर 4 और 5 अक्टूबर को लगातार दो रात तेजाब से हमला किया गया था। आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (डीएलएसए) लखीमपुर ने शुक्रवार को एसिड अटैक की शिकार पीड़िता को निर्भया फंड के तहत एक लाख रुपये भेंट किए। लखीमपुर के जस्टिस बिचित्रा दत्ता, डीएलएसए के सचिव ने उत्तर लखीमपुर में पूर्व के कार्यालय में एक साधारण समारोह में पीड़ित परिवार को चेक भेंट किया।

होराफिक एसिड अटैक में 5 व्यक्ति घायल हुए जिनमें सालेहा खातून, हफीजा खातून, अनवारा बेगम, महोनी बेगम और नाबालिग खुर्शीदा बेगम और एतेज अली शामिल हैं। पुलिस ने 8 अक्टूबर को एक आरोपी देबजीत दास को अरुणाचल प्रदेश में उसके ठिकाने से गिरफ्तार किया जिसके कारण यह पता चला कि यह असफल प्रेम का मामला है। महोनी बेगम द्वारा अपने प्रेम प्रस्ताव को ठुकराए जाने के बाद उसने परिवार पर तेजाब से हमला कर दिया। क्राइम के एक अन्य साथी मुस्ताकुल रहमान को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

निर्भया फंड भारत सरकार द्वारा 2013 में घोषित 100 करोड़ रुपये का कोष है।  इस सहायता से सरकार और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा भारत में महिलाओं की गरिमा की रक्षा और सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में काम करने वाली पहलों का समर्थन करने की उम्मीद है।

क्या भारत से ख़त्म हो रहा कोरोना ? सक्रीय मामलों में लगातार आ रही गिरावट

6 महीने से युवक को नहीं मिला काम तो उठाया दिल दहला देने वाला कदम

चिदंबरम ने की 370 को बहाल करने की मांग, नड्डा बोले- डिवाइड इंडिया के ट्रिक पर आई 'कांग्रेस'