वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा बयान, कहा- इम्पोर्ट तभी होना चाहिए जब इससे रोज़गार पैदा हो

नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि देश की तरक्की के लिए यदि किसी अन्य मुल्क से आयात किया जाता है तो इसमें कुछ भी अनुचित नहीं है. देश में चीन से आने वाले इम्पोर्ट पर अंकुश लगाने की बढ़ती मांग के बीच निर्मला सीतारमण का यह बयान काफी मायने रखता है. 

उल्लेखनीय है कि भारत-चीन बॉर्डर पर हाल में हुए हिंसक संघर्ष में हमारे देश के 20 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद से देश में चीन को लेकर आक्रोश चरम पर है. कई संगठनों ने चीनी माल के बहिष्कार का आग्रह किया है. भारत-चीन के बीच व्यापार में पलड़ा चीन के पक्ष में झुका हुआ नज़र आ रहा है. साल 2018-19 में भारत में चीन से 70 अरब डॉलर का इम्पोर्ट किया गया था. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तमिलनाडु इकाई के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा कि जो कच्चा माल देश में उपलब्ध नहीं है और उसकी हमारी किसी इंडस्ट्री को आवश्यकता है तो उसका इम्पोर्ट करने में कुछ भी गलत नहीं है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, केंद्र सरकार के आत्मनिर्भर अभियान की जानकारी देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा है कि, 'अपने उत्पादन को बढ़ाने और रोजगार के अवसर तैयार करने के लिए इम्पोर्ट करने में कुछ भी गलत नहीं है और निश्चित रूप से ऐसा होना चाहिए. किन्तु आयात तभी होना चाहिए ​जब इससे रोजगार के अवसर पैदा हों, तरक्की को गति मिले और देश की इकॉनमी में आत्मनिर्भरता आए.'

लगातार 20 दिनों से झटका दे रहा पेट्रोल, डीजल के दाम भी आसमान पर पहुंचे

सोनिया गाँधी की अध्यक्षता वाली RGF को 'चीन' ने दिया था करोड़ों का दान, आखिर क्या थी वजह ?

कोरोना का अंत साबित हो सकती है 'कोविफोर' दवा, बाजार में पहुंची पहली खेप

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -