Mulk Review : समाज को नई राह दिखाती मजहब की कहानी

Mulk Review : समाज को नई राह दिखाती मजहब की कहानी

फिल्म

मुल्क

डायरेक्टर

अनुभव सिन्हा

संगीत

मंगेश धाकड़े

कलाकार

ऋषि कपूर, मनोज पाहवा, तापसी पन्नू, प्रतीक बब्बर

फिल्म टाइप

 ड्रामा

कहानी

फिल्म 'मुल्क' की कहानी एक ऐसे मुस्लिम परिवार पर आधारित है जो कई सालों से बनारस में ही बसा हुआ है. उनके घर के आसपास लगभग हर परिवार हिन्दू ही होता है और वो लोग मिल-जुलकर परिवार की तरह रहते हैं. उनकी सुबह की चाय से लेकर रात के खाने तक सब काम साथ में होते है. पूरा मोहल्ला एक-दूसरे के सुख-दुःख का साथ देता है. मुराद अली मोहम्मद (ऋषि कपूर) और उनका परिवार धर्म के नाम पर भेदभाव नहीं करता था और यहां तक की उनकी बड़ी बहु (तापसी पन्नू) भी हिन्दू है. मुराद अली मोहम्मद के घर में तापसी को बहु नहीं बल्कि बेटी का दर्जा मिला है. सब कुछ अच्छे से चल रहा था लेकिन फिल्म की कहानी में ट्विस्ट तो तब आता है जब मुराद अली का भतीजा जिहाद के नाम पर करीब 16 लोगों को बम से उड़ा देता है.

देशभर में ये बात सनसनी की तरह फ़ैल जाती हैं. एनकाउंटर में शाहिद तो मारा जाता है लेकिन इसके बाद सीधा शक उनके परिवार और खासकर शाहिद के पिता बिलाल (मनोज पहवा) पर जाता है. कोर्ट में शाहिद को आतंकवादी साबित के लिए उस पर कई सारे आरोप लगाए जाते है. इधर बड़े भाई (ऋषि कपूर) पर भी मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है. एक समय पर उन्हें परिवार के सदस्य की तरह मानने वाले सभी पड़ोसी अब उनपर आतंक फैलाने का आरोप लगा रहे होते हैं. मुराद अली के परिवार पर भी कई तरह के और घिनौने आरोप लगते है. इन आरोपों से निकलने की जद्दोजहद पर ही फिल्म की पूरी कहानी कहानी टिकी हुई है. 

क्यों देखे

फिल्म का निर्देशन इतने अच्छे से किया गया है कि आप कहानी से बांध जाएंगे और चुपचाप होकर बस फिल्म का लुत्फ़ उठाएंगे. फिल्म की कहानी के हिसाब से ही उसमे गाने भी है. सभी कलाकारों की शानदार एक्टिंग भी आपको अंत तक फिल्म से बांधकर रखेगी. कुल मिलकर मजहब पर आधारित इस फिल्म को एक बार तो जरूर देखना बनता है.

अनुभव सिन्हा की फिल्म 'मुल्क' की रिलीज़ पर लगा स्टे

'धड़क' ने किया श्रीदेवी की बेटी के करियर का डिब्बा बंद

ऋषि कपूर के साथ काम करके काफी खुश हैं ये बेहतरीन कलाकार

?