हर कोरोना मरीज को बचाने वाले है सीएम योगी, नए प्लान पर अमल करने की तैयारी

उत्तरप्रदेश में कोरोना को पराजित करने के लिए हर रोज जोरदार तैयारी कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुहिम अब हर कोविड-19 संक्रमित को बचाने की है. इसके लिए सरकार सभी को बेहतर से बेहतर इलाज दे रही है. संवेदनशील कोरोना संक्रमितों पर तो सरकार विशेष ध्यान दे रही है.

विशेषज्ञों का दावा, संक्रमण के तीसरे दिन सूंघने की शक्ति खो सकता है कोरोना का मरीज

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने यूपी के बड़े अस्पतालों में ई-कोविड केयर सपोर्ट नेटवर्क की शुरुआत की है. इसके साथ ही 12 करोड़ की लागत से अस्पतालों को और उच्चीकृत किया जाएगा. इसके लिए कोविड फंड से धनराशि दी गई है. कोरोना वायरस के वह मरीज जो पहले से हृदय रोग, मधुमेह या किडनी आदि की गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं, उनकी जान बचाने के लिए ई-कोविड केयर सपोर्ट नेटवर्क तैयार किया गया है. 

WHO का बड़ा बयान, कहा- 'कोरोना के फैलने में वुहान मार्केट की रही भूमिका लेकिन...'

वायरस के प्रकोप के बीच सरकार टेलीकम्युनिकेशन सेंटर स्थापित करने वाली है. इस सेंटर की मदद से दूसरे रोगों के विशेषज्ञ डॉक्टरों से कोविड-19 अस्पतालों में तैनात डॉक्टर तत्काल परामर्श लेकर संक्रमितों का इलाज कर सकेंगे. उत्तर प्रदेश के लेवल -1, 2 और 3 कोविड हॉस्पिटल टेलीकम्युनिकेशन से जुड़ेंगे. गंभीर मरीजों के इलाज के लिए विशेषज्ञ टेलीकम्युनिकेशन से अपनी राय देंगे. इस प्रक्रिया से मरीजों की केस हिस्ट्री और स्थिति के अनुसार बेहतर इलाज होगा. इन अस्पतालों में सुबह 8 से रात 8 बजे तक ई-कोविड केयर सपोर्ट नेटवर्क के तहत सभी को सलाह मिलेगी.

सत्ताधारी पार्टी पर विपक्ष का बड़ा हमला, राष्ट्रपति को पत्र लिखकर दर्ज कराया विरोध

अमेरिका के उपराष्ट्रपति की प्रेस सचिव निकली कोरोना पॉजिटिव, व्हाइट हाउस में हड़कंप

लायल जेफ़ और वारेन जेफ़ के काले कारनामे, बिशप से कैसे पहुंचे जेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -