कोनमेबोल के अध्यक्ष का बयान, कहा- सब्सटीट्यूट नियम बदलने पर फीफा ने हमें विश्वास में नहीं लिया

दक्षिण अमेरिकी फुटबाल परिसंघ (कोनमेबोल) के अध्यक्ष एलेजांद्रो डोमिंगुएज ने कहा है कि वह फीफा द्वारा इस साल टीमों को प्रत्येक मैच में तीन के बजाय पांच सब्सटीट्यूट रखने की अनुमति देने के फैसले से हैरान हैं. विश्व फुटबाल की नियामक संस्था फीफा ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 के बाद गर्मी के माहौल और व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए इस साल टीमों को प्रत्येक मैच में तीन के बजाय पांच सब्सटीट्यूट रखने की अनुमति होगी.

कोनमेबोल के अध्यक्ष डोमिंगुएज ने ट्विटर पर कहा, " इस फैसले से हम काफी हैरान हैं क्योंकि महासंघ ने फैसला करते समय हमसे चर्चा नहीं की." उन्होंने कहा, " कोनमेबोल अब इस फैसले की समीक्षा करने के लिए एक बैठक बुलाएगा, जोकि अपना निष्कर्ष बोर्ड को देगा. फिर बोर्ड इस पर फैसला लेगा कि इस नियम को कोनमेबोल के टूर्नामेंट में लागू करना है या नहीं."

फीफो ने शुक्रवार को कहा था, जो प्रतियोगिताएं या तो शुरू हो गई हैं या फिर शुरू होना चाहती हैं, और 31 दिसंबर, 2020 तक पूरा होने वाली हैं, उनके लिए आईएफएबी ने कानून तीन में एक अस्थायी संशोधन के फीफा के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इसके तहत इस साल टीमों को प्रत्येक मैच में तीन के बजाय पांच सब्सटीट्यूट रखने की अनुमति होगी. बयान में आगे कहा गया था कि यह नियम सभी प्रतियोगिताओं में लागू होगा, जोकि इस साल के अंत तक खत्म होने वाली हैं. यह प्रतियोगिताओं के आयोजकों पर निर्भर करेगा कि इसे लागू किया जाए या नहीं. फीफा ने साथ ही कहा था कि जिन प्रतियोगिताओं में वीडियो असिस्टेंट रेफरी (वीएआर) इस्तेमाल होता है, वहां यह कायम रहेगा.

इन खिलाड़ियों ने मदर्स डे पर अपनी माँ को दिया धन्यवाद

इस खिलाड़ी की पत्नी का डांस वीडियो हुआ वायरल

स्टीव स्मिथ ने पहले लगाई 21.10 किमी की दौड़, फिर बताई यह खास वजह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -