घर की तरह आपकी जिंदगी का भी अंधकार दूर कर सकती है मोमबत्ती, जानिए कैसे?

Apr 28 2021 03:01 PM
घर की तरह आपकी जिंदगी का भी अंधकार दूर कर सकती है मोमबत्ती, जानिए कैसे?

अक्सर हर घर में मोमबत्ती पाई जाती है वही मोमबत्ती को घर का अंधेरा दूर करने के लिए जलाया जाता है, मगर क्या आप जानते हैं कि इससे आपकी जिंदगी का अंधकार भी दूर हो सकता है? दरअसल फेंगशुई में मोमबत्ती को पॉजिटिव एनर्जी का संचार करने वाला माना जाता है। चीन की धार्मिक पुस्तक टायो पर आधारित ज्ञान है। इसमें भारतीय वास्तुशास्त्र की भांति पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी का अध्ययन किया जाता है। 

जानिए फेंगशुई के मुताबिक घर में मोमबत्ती रखने को लेकर क्या हैं नियम:-

1- फेंगशुई के मुताबिक मोमबत्ती को हमेशा उत्तर-पूर्व, पूर्व, दक्षिण अथवा दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखना चाहिए। इससे घर में सुख समृद्धि बनी रहती है। कभी भी इसे उत्तर दिशा में न रखें। इससे घर में धन का आगमन बाधित होता है।

2- कभी भी घर के उत्तर-पश्चिम में मोमबत्ती न जलाएं। इससे परिजनों के बीच मनमुटाव और विवाद की स्थिति पैदा होती है। घर में अशांति हो जाती है तथा लोगों के मन में ईर्ष्या का भाव आता है। वहीं कार्यस्थल पर ऐसा करने से कर्मियों के मन में द्वेष की भावना पनपती है।

3- अगर घर के बच्चों का मन पढ़ाई में नहीं लगता तथा आप उनके कारण बहुत परेशान रहते हैं तो एक मोमबत्ती प्रतिदिन उनके कमरे में पूर्व, उत्तर-पूर्व या दक्षिण दिशा में जलाएं। ऐसा करने से आहिस्ता-आहिस्ता बच्चों का मन बदलने लगेगा तथा वे पढ़ाई की तरफ आकर्षित होने लगेंगे। बच्चों के कमरे में हरे रंग की मोमबत्ती लगाने से एकाग्रता बढ़ती है।

4- फेंगशुई में मोमबत्ती के भिन्न-भिन्न रंगों की भी अहमियत मानी गई है। किन्तु रंगों के हिसाब से इनकी दिशा तय होती है, तभी ये मोमबत्तियां असरकारी सिद्ध होती हैं। घर में पोस्टिविटी के लिए उत्तर-पूर्व कोने में हरे रंग की मोमबत्ती लगाएं।

5- परिवार के सदस्यों के मध्य आपसी प्रेम तथा सौहार्द बढ़ाने के लिए और परिवार में सुख शांति लाने के लिए दक्षिण-पश्चिम कोने में गुलाबी और पीले रंग की मोमबत्ती जलाएं।

6- धन संबन्धी समस्यां को दूर करने के लिए घर की दक्षिण दिशा में लाल रंग की मोमबत्ती जलाएं तथा मन की उथल-पुथल को शांत करने के लिए नीली मोमबत्तियां पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा में लगाएं। इसके अतिरिक्त पीले और सफेद रंग की मोमबत्ती भी पोस्टिविटी लाने और मन को शांत करने के लिए जला सकते हैं।

आज से शुरू हो रहा है वैशाख माह, जानिए क्या है इसका महत्व?

क्या मृत्यु के देवता यमराज की भी हो सकती है मृत्यु? जानिए पूरा सच

सूर्य को जल अर्पित करते समय बदन पर पड़ने वाले छीटे होते है बहुत ही शुभ, जानिए इसका महत्व