मॉडल रेलवे कोचों की सुविधाओ पर हुई चर्चा

Jan 11 2016 06:33 PM
मॉडल रेलवे कोचों की सुविधाओ पर हुई चर्चा

भोपाल: मॉडल कोचों के प्रथम श्रेणी एसी कोच पर रेलवे बोर्ड (सीआरबी) अध्यक्ष, एके मित्तल द्वारा किए गए एक निरीक्षण के दौरान बोगियों की सुविधाओ पर चर्चा हुई. निशातपुरा कोच फैक्ट्री में निर्मित मॉडल कोचों को पसंद किये जाने पर यह सुविधाए सभी नई बोगियों में दी जाएंगी. 

मित्तल ने कहा कि "पहले दर्जे की एसी कोच में वॉश बेसिन की आवश्यकता नहीं है. यह मैट और फर्श को गिला कर देगी". मित्तल ने कोच के पुनर्वास कार्यशाला (CRWS) द्वारा निर्मित मॉडल कोचों का निरीक्षण राज्य की राजधानी में किया. डीआरएम और जीएम सहित वरिष्ठ अधिकारी भी इस यात्रा के दौरान उपस्थित थे.

मित्तल ने कहा, "प्रतिक्रिया और सेवा तो इन डिब्बों के संतोषजनक है. रेलवे में एक ही सुविधाओं के साथ नए कोचों का निर्माण होगा. इन डिब्बों को CRWS एक मॉडल कोच जैसे पुनर्विकसित किया जा रहा हैं. बैरागढ़ की तीसरी लाइन का काम जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा और पश्चिम मध्य रेलवे में बैरागढ़ स्टेशन के विलय विचाराधीन है. 

नई सुविधाओ में -- एसी फर्स्ट में शॉवर, सेकंड एसी में फोल्डेबल टेबल, रीडिंग लाइट को घुमाकर एडजस्ट करने की सुविधा, एसी फर्स्ट व सेकंड में फायर एक्सट्विंगिसर, दरवाजों के कांच ज्यादा बड़े, अटेंडर को बुलाने के लिए कॉल बेल, और दरवाजे के एलईडी लाइट-- प्रमुख है.