FATF के प्रतिबंध के डर से घबराया पाक, फिर पीएम ने बोली ये बात

इस्लामबाद: इसी वर्ष अक्टूबर में FATF की होने वाली बैठक का वक़्त जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे पाक सरकार की बेचैनी तेज होती जा रही है. बेचैनी का आलम यह है कि पीएम इमरान  को यह साफ-साफ कहने पर मजबूर होना पड़ा कि अगर FATF पाक को प्रतिबंधित कर देता है तो उनके देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो जाएगी. 

इमरान बोले, तबाह हो जाएगी अर्थव्‍यवस्‍था: FATF की बैठक को लेकर तेज गहमा-गहमी का असर पाक के पीएम पर नज़र आ रहा  है. एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में इमरान खान ने बताया कि भारत बीते 2 सालों से पाक पर FATF का प्रतिबंध लगवाने का प्रयास किया है. अगर यह प्रतिबंध लग जाता है तो पाक की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो सकती है. पाक की स्थिति ईरान जैसी हो सकती है जिससे कोई इंटरनेशनल वित्तीय संस्थान कारोबार नहीं करना चाह रहा है.

पीछे नहीं हटेगा भारत: दूसरी ओर हिंदुस्तान का साफ कहना है कि वह आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों पर इंटरनेशनल प्रतिबंध लगाने की अपनी मुहिम से पीछे नहीं हट रहा है. हिंदुस्तान ने यह भी संकेत दिया है कि हाल के दिनों में पाक ने जिस तरह कई आतंकियों के अपने देश में होने की बात मान ली है, वह उसे भी इंटरनेशनल पटल पर जोर-शोर से उठाया जाने वाला है.

अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुका पाकिस्‍तान: भारतीय विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने शुक्रवार को एक सेमिनार में पाक का नाम लिए बगैर उस पर तीखे तंज कस. उन्‍होंने बोला, 'आतंकवाद के मुद्दे पर इंटरनेशनल दबाव का ही नतीजा है कि एक देश को यह मान लिया है कि वह इंटरनेशनल आतंकी संगठनों को सहायता कर रहा है व उन्हें ट्रेनिंग दे रहा है. विदेश मंत्री ने वर्ष 2001 में अमेरिका पर और वर्ष 2008 में मुंबई पर हुए आतंकी हमले का जिक्र करते हुए FATF की ओर से कड़े कदम उठाने की आवश्यकता बताई

इंसान का दिमाग पढ़ सकेगी ये चिप, एलन मस्क की कंपनी ने सूअर पर किया प्रयोग

WHO की चेतावनी- सर्दियों में और भी घातक होगा कोरोना, बढ़ सकती है मृत्यु दर

'क़ुरान शरीफ' की प्रति जलाने पर भड़का दंगा, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर बरसाए पत्थर.  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -