उपवास-व्रत करें, गुस्सा या झूठ बिल्कुल नहीं

किसी कमजोर ग्रह को अनुकुल बनाने के लिये रत्न तो धारण कराये ही जाते है वहीं उपवास या व्रत करने की भी सलाह ज्योतिषियों द्वारा दी जाती है। लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है कि व्रत-उपवास करने वाले व्यक्ति को व्रत वाले दिन न तो गुस्सा ही करना चाहिये और न ही झूठ बोलना चाहिये।

गुस्से से उपवासधारी व्यक्ति का मन विचलित होता है, ऐसे में व्यक्ति या तो नियम तोड़ देता है या फिर गुस्से में किसी के भी साथ अभद्रता जैसा व्यवहार भी करने से चूकता नहीं है। लेकिन ऐसी स्थिति में उपवास का प्रतिफल बिल्कुल नहीं मिलता है, इसलिये कम से कम उपवास वाले दिन तो मन को शांत रखना ही चाहिये।

इसके अलावा झूठ बोलने से भी बचना चाहिये। झूठ बोलने से भी ईश्वर की कृपा नहीं मिलती है तथा उपवास का फल शुभ नहीं मिलता है। उपवास वाले दिन सुबह से लेकर शाम तक मन शांत रखे और भक्ति आराधना में ही दिन व्यतीत किया जाना चाहिये।

यह ऐक्टिविटी ट्रैकर बिना चार्ज किये देगा 14 दिनों तक आपका साथ

चंदन की जड़ बांधे तो प्रसन्न हो राहु

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -