फारूक अब्दुल्ला का बड़ा दावा- मुझसे मिलना चाहते थे अमित शाह, मैंने मना कर दिया

श्रीनगर: नेशनल कांफ्रेस (NC) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने राजौरी जिले के नौशेरा में मीडिया से बातचीत करते हुए बड़ा दावा किया है। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने उनसे संपर्क किया था, क्योंकि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह उनसे मिलना चाहते थे,  मगर उन्होंने मिलने से मना कर दिया.

इस दौरान अब्दुल्ला ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर जमकर हमला बोला. अब्दुल्ला ने कहा मैं सरकार को बताना चाहता हूं कि आप कश्मीर में तब तक शांति नहीं ला सकेंगे, जब तक आप संविधान की धारा 370 को बहाल नहीं करते. यहां केवल हिंदू ही नहीं, मुसलमानों को भी आतंकियों ने मार डाला है. अब्दुल्ला ने कहा कि घाटी में हाल की वारदातें उन लोगों के लिए आंखें खोलने वाली हैं, जो कहते थे कि धारा 370 के ख़त्म होने के बाद आतंकवाद खत्म हो जाएगा.

अब्दुल्ला ने कहा कि, घाटी का माहौल कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए अनुकूल नहीं है. भाजपा देश को धर्म के आधार पर बांट रही है. भाजपा यूपी में भी सांप्रदायिक माहौल बना रही है. बातचीत में फारूक अब्दुल्ला ने 900 पत्थरबाजों को हिरासत में लिए जाने का विरोध भी किया. उन्होंने कहा कि, हां, सरकार ने मुझसे संपर्क किया. अमित शाह मुझसे मिलना चाहते थे, लेकिन मैंने इंकार कर दिया. तब मेरी राजौरी और पुंछ जाने की पहले से योजना थी. 

भारत तो महान है, लेकिन केंद्र सरकार नाकाम है: राहुल गांधी

यूपी चुनाव: आज प्रतिज्ञा यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगी प्रियंका, जानिए क्या है कांग्रेस की 7 प्रतिज्ञाएं

लखीमपुर हिंसा: योगेंद्र यादव को क्यों किया गया निलंबित ? टिकैत बोले- हर बात बताने की नहीं होती

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -