'जब तक पाकिस्तान से बातचीत नहीं, तब तक जम्मू-कश्मीर में शांति नहीं' - फ़ारूक़ अब्दुल्ला

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के नेताओं का पाकिस्तान प्रेम किसी से छिपा नहीं है और ये आए दिन सामने भी आते रहता है। इसी कड़ी में नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार से पाकिस्तान के साथ दोबारा वार्ता शुरू करने की माँग की है। उनका कहना है कि घाटी में अमन का माहौल तभी कायम होगा, जब भारत सरकार पाकिस्तान के साथ वार्ता करेगी।

अब्दुल्ला ने पुंछ जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उक्त बातें कहीं हैं। पाकिस्तान प्रेम में डूबे फारुक अब्दुल्ला का कहना है कि जब तक केंद्र सरकार, पाकिस्तान के साथ बातचीत शुरू नहीं करेगी, तब तक घाटी में शांति की उम्मीद करना बेमानी है। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार पर धारा 370 और अनुच्छेद 35 A को खत्म कर कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाने का इल्जाम लगाया और दावा किया कि कश्मीरियों के साथ बेईमानी की गई है।

उन्होंने कश्मीरियों को बरगलाते हुए उन्हें एक बार फिर से धारा 370 की बहाली का सब्जबाग दिखाया। उन्होंने कहा कि अगर हमारी सरकार वापस आती है तो 370 और 35 A को पुनः बहाल किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि यदि 1947 में पाकिस्तान मूर्खता नहीं करता तो कश्मीर के अंतिम शासक महाराजा हरि सिंह कश्मीर को आज़ाद बनाए रखते। अब्दुल्ला ने ये भी दावा किया कि अभी घाटी में कश्मीरी पंडितों को बसाने लायक वातावरण नहीं है।

अब नहीं तोड़े जाएंगे सार्वजनिक स्थल पर मौजूद धर्मस्थल.., इस राज्य में लागू हुआ कानून

उत्तराखंड: हरक रावत को हरीश ने किया माफ़, बोले- आपदा में सांप-नेवले भी एक हो जाते हैं...

जेल की अवधि खत्म होने के बाद 4 साल बाद पटना लौटे लालू प्रसाद यादव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -