किसानों के लिए बड़ी खबर, रेल सुविधा के साथ मिल रहे ये फायदे

नई दिल्ली: इंडियन रेलवे ने शुक्रवार से पायलट प्रोजेक्ट के रूप में किसान रेल की सेवाएं शुरू कर दी है. यह ट्रेन महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर तक 30 अगस्त से चलाई जाने वाली है. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर बोला है कि पीएम मोदी जी ने देश की पहली किसान रेल के लिए अपना अमूल्य मार्गदर्शन और सलाह दिया. उनकी इस प्रेरणा से रेलवे ने देश के किसानों के हित में अपने दायित्वों को निभाकर उन्हें पूर्ण करने के बारे में सोच विचार कर रहे है. मैं इसके लिये उनका आभारी हूं.

अपने ट्वीट में उन्‍होंने बोला है कि किसान रेल दूध, फल, सब्जी जैसी जल्द खराब हो जाने वाली चीजों को बाजार तक पहुंचाने के साथ ही नेशनल कोल्ड सप्लाई चेन को बनाने में अहम् किरदार निभाने वाली है. ये किसान रेल हर शुक्रवार देवलाली से सुबह 11 बजे चलाई जाने वाली है. ये लगभग 1,500 कि.मी. की यात्रा तकरीबन 32 घंटों में तय करके अगले दिन शाम 6.45 पर दानापुर पहुंच जाएगी. ये ट्रेन मध्य प्रदेश और यूपी से हो कर गुजरेगी और तकरीबन 14 स्टेशनों पर रुकने वाली है. इस ट्रेन की ख़ास बात तो यह कि ये है कि हर स्टेशन पर किसान अपना पार्सल चढ़ा पाएंगे और उतार भी सकते है. रेलवे मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा शुक्रवार को इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई. इस मौके पर महाराष्ट्र के खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री छगन भुजबल भी शामिल हुए. 

अपने एक अन्‍य ट्वीट में पीयूष गोयल ने कहा है कि पीएम मोदी कहते है कि देश की प्रगति का इंजन भारतीय रेल को बनना चाहिये. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बीच रेलवे और किसानों ने देश के कोने कोने में, किसी को भी, किसी भी वस्तु की कमी ना हो, यह सुनिश्चित कर लिया गया. जिसके लिए रेल और कृषि मंत्रालय के सभी कर्मचारियों को मैं धन्यवाद देता हूं.

दिल्ली दुष्कर्म पीड़िता की हालत नाजुक, मलाशय और आंतें बुरी तरह जख्मी

केरल प्लेन क्रैश पर पीएम मोदी ने जताया दुःख, सीएम विजयन से ली जानकारी

कोझीकोड हवाईअड्डे विमान के दुर्घटनाग्रस्त पर CM YS जगन ने जताया शोक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -