किसान आंदोलन: कृषि मंत्री तोमर ने फिर दिया बातचीत का प्रस्ताव, टिकैत ने पलटकर दिया बेतुका जवाब

नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन अब भी जारी है. संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा आज सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक भारत बंद का आह्वान किया गया है. गाजीपुर सीमा पर NH-9, NH-24 को किसानों ने चक्का जाम कर दिया है. किसान संगठन से संबंधित नेताओं ने यहां डेरा डाल लिया हैं. गाजीपुर बॉर्डर के अलावा किसानों ने शंभू बॉर्डर भी जाम कर दिया है.

इस दौरान किसान नेता राकेश टिकैत ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बातचीत के जरिए हल निकालने के बयान पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री रट्टू हैं. टिकैत ने कहा कि यदि सरकार कानून में दस साल में सुधार करेगी, तो ये आंदोलन 10 वर्षों तक जारी रहेगा. हम वापस नहीं जाएंगे. टिकैत ने आगे कहा कि किसी के विचार को आप विचार से ही बदल सकते हो, बंदूक की ताकत से आप किसी का विचार नहीं बदल सकते. कृषि मंत्री को लेकर टिकैत ने कहा कि वो रट्टू हैं, जैसे बचपन में पढ़ाया गया था. जो पढ़ लिया उतना ही बोलेगा उससे अधिक बोलेगा ही नहीं. टिकैत ने आगे कहा कि वो कहते हैं कि कानून वापस नहीं करेंगे, संशोधन पर बात करनी है, बात कर लो.

आपको बता दें कि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा है कि केंद्र सरकार किसानों की तरफ से उठाए जाने वाले किसी भी मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है. तोमर ने बातचीत का रास्ता अपनाने की गुजारिश की है.

वित्त सचिव ने किया खुलासा- कब होगी LIC के IPO की लिस्टिंग

डीजल की कीमतों में फिर आया उछाल, जानिए क्या है भाव?

जम्मू-कश्मीर में 2 नए एयरपोर्ट टर्मिनल स्थापित किए जाएंगे: ज्योतिरादित्य सिंधिया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -