पिछले पांच सालों से सूखे की मार झेल रहे पलामू के किसान, इस साल भी ख़राब है हालत

Jul 26 2019 04:53 PM
पिछले पांच सालों से सूखे की मार झेल रहे पलामू के किसान, इस साल भी ख़राब है हालत

पलामू : इस वर्ष भी पलामू के किसान सूखे की मार झेल रहे हैं. आद्रा नक्षत्र बीतने के बाद भी अभी तक खेतों में पानी नहीं पड़ा हैं. शुरुआती दौर की बारिश में किसानों ने जो फसल बोई थी, वो नष्ट हो रही हैं. धान के बीज सूख रहे हैं. बारिश नहीं होने की वजह से पलामू के किसानों का बुरा हाल है. पिछले पांच वर्षों से निरंतर सुखाड़ की मार झेल रहे पलामू के किसानों को इस बार भी सूखे के संकेत मिलने लगे हैं.

शुरुआती दौर में हुई वर्षा में किसानों ने खेतों में हल चलाना आरंभ कर दिया था. मक्का और दलहन की फसल बोई गई थी. धान के बिचड़े लगाए गए थे. बारिश नहीं होने की वजह से फसल पूरी तरह सूखने लगे हैं. कुदरत पर निर्भर रहने वाले पलामू के किसानों को फिर एक बार मायूसी ही हाथ लग रही है. उनका कहना है कि अभी तक बारिश नहीं होने की वजह से फसल बर्बाद हो रहे हैं. धान की पैदावार की भी संभावनाएं अब दूर होती नज़र आ रही है.

बादलों को निहारते-निहारते पलामू के किसानों की आंखे थक गई हैं. चैनपुर में सालों से कई सिंचाई योजनाएं अधूरी पड़ी हुई हैं. किसी भी जनप्रिनिधी ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई है. चुनाव के दौरान किसान भले ही मुद्दा बन जाते हैं, किन्तु उन्हें केवल मायूसी ही हाथ लगती है. किसानों का कहना है कि सरकार अगर सिंचाई का साधन देती तो हमारी हालत ऐसी नहीं होती.

 देश का एकमात्र ऐसा हाईवे, जहाँ रात 9 बजे से थम जाते हैं पहिए

दिल्ली हाई कोर्ट ने ख़ारिज की वंदे मातरम् को राष्ट्रगान का दर्जा देने की मांग करने वाली याचिका

ईरान द्वारा पकड़े गए पोत में सवार 9 भारतीय रिहा, तीन अब भी गिरफ्त में