बुंदेलखंड में किसान ने चुराया पानी, गिरफ्तार

बुंदेलखंड : तीन साल से सूखे से जूझ रहे बुन्देलखण्ड के महोबा में हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. राजनीति के चक्कर में केंद्र से भेजी गई पानी की ट्रेन को यूपी सरकार ने लेने से मना कर दिया गया. अब यहाँ एक किसान को पानी चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया है. हीरालाल यादव (55) नामक किसान पर आरोप है कि उसने उर्मिल डैम के वाल्व को नुकसान पहुंचाया और छोटी नहर बनाकर पानी को खेत में ले गया. जबकि किसान के परिवार का कहना है कि वाल्व पहले से ही टूटा हुआ था. हीरालाल को गलत तरीके से फंसाया जा रहा है.

महोबा के एसपी गौरव सिंह ने कहा कि हीरालाल ने पाइप लाइन को नुकसान पहुँचाया और गड्ढे में पानी इकट्ठा कर इसे खेती के लिए इस्तेमाल कर रहा था. उधर महोबा जल संस्थान के जाइंट इंजीनियर ने शिकायत दर्ज करवाई. हीरालाल के खिलाफ धारा 430, 353 और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाने का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया. हीरालाल की पत्नी मुन्नी देवी ने कहा आरोप झूठे हैं. जब से पाइप लाइन बिछी है तब से लीक हो रही है.

सरकार ने अपनी कमियों पर पर्दा डालने के लिए मेरे पति को गिरफ्तार किया है. हालाँकि सरकार भी मानती है कि बुन्देलखण्ड में पानी की समस्या है, लेकिन केंद्र से मदद लेना नहीं चाहती.महोबा के जल संस्थान के एई एसके वर्मा ने कहा हम जमीन से पानी निकाल रहे हैं. संभवतः 20 जून तक पानी उपलब्ध होगा. इस प्राकृतिक आपदा में हम बस इतना ही इंतजाम कर सकते हैं.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -