जाने मध्य प्रदेश के इस ऐतिहासिक किले के बारे में

जाने मध्य प्रदेश के इस ऐतिहासिक किले के बारे में

यह तो सभी जानते है मध्य प्रदेश को 'कुबेर का खजाना' कहा जाता है. यहां ऐसे बहुत सी जगह है जिसे देख कर आप कही और का नजारा भूल ही जायेगे , क्योंकि प्रकृति ने यहां खूबसूरती बिखेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. यहां की नदियां, पहाडिय़ां, झरने और जंगले काफी खूबसूरती है इसलिए देश-दुनिया के पर्यटक और प्रकृतिक दीवाने यहां आते है.

देवगढ़ किला

छिंदवाड़ा से करीब 50 किमी दूर मोहखेड़ के पास यह किला स्थित है. यह 18वीं शताब्दी का बना हुआ है. यह मध्यभारत के बड़े राजवंश का केन्द्र बिंदु था और गोंडवंश के राजाओं की राजधानी के रूप में प्रसिद्ध था. कहा जाता है कि इसका उत्पादन प्रतापी राजा जाटव के द्वारा हुआ.

यह किला पहाड़ी पर बनाया गया है और गहरी खाई से लगा हुआ है. इस किले में आप उत्तर दिशा से प्रवेश कर सकते है. यह किला ऐतिहासिक महत्ता की कहानी को बखान करता है. इस किले में एक तालाब है जो मोतीटांका के नाम से जाना जाता है.