आधी रात को डॉक्टर के पास लेकर पहुंचे कार का टायर

आमतौर पर देखा जाता है कि लोग डॉक्टर्स के पास अपनी बीमारियों का इलाज करवाने पहुंचते हैं. लेकिन हाल ही में देखा गया कि कॉनेक्टिकट के मिडिल टाउन में मौजूद पेपर मेमोरियल वेटरनरी सेंटर में अचानक एक परिवार कार का टायर लेकर पहुंच गया. पहले तो वहां मौजूद कर्मचारी कुछ समझ ही नहीं पाए, लेकिन जब उन्होंने टायर को गौर से देखा, तो उन्हें उसमें फंसा जानवर नजर आया.

यहां रहने वाली एक फैमिली की चार महीने की बिल्ली कुकी एक दिन गैरेज में खेलते हुए बड़ी परेशानी में फंस गई थी. उसने अपनी गर्दन को टायर के बिल्कुल बीच में फंसा लिया था. वो जितना वहां से बाहर निकलने की कोशिश कर रही थी, उतनी ही ज्यादा दर्द से छटपटा रही थी. कुकी की फैमिली ने उसे आजाद करवाने की काफी कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए. अंत में हारकर वो कुकी को टायर सहित डॉक्टर्स के पास ले आए.

वहां कुछ एक्सपर्ट्स की मदद से कुकी की गर्दन टायर से बाहर निकाला गया, इसके बाद फिर उसे इमरजेंसी रूम में रखकर आज़ाद करवाया गया. निकाले जाने के कुछ समय बाद तक कुकी को हॉस्पिटल में ही रखा गया, और हालत का जायज़ा मालूम होने पर उससे वापस घर रवाना कर दिया गया. इस पूरी घटना को वहाँ के एक्सपर्ट्स ने उनके सोशल मीडिया के पेज पर भी बड़ी शान से पोस्ट किया.

कुछ अलग दिखने की चाह

अमेरिका में आतंकवादी कहलाने वाला भारतवंशी बना मेयर

किम कार्दशियन की कॉपी है रीम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -