अजीब दुनिया: जिंदा थे तो एक नहीं होने दिया, अब शवो की करवाई शादी

घाटशिला (झारखंड): झारखंड से एक ऐसा मामला सामने आया है जो सभी को हैरान कर गया है। इस मामले में समाज का वो चेहरा सामने आया है जो नाराज कर देने वाला है। जी दरअसल इस मामले में दो लाशों की शादी करवाई गई है। सबसे बड़ी और हैरानी की बात तो यह है कि इससे पहले जीते जी न तो दोनों के घर वालों ने और न ही समाज ने दोनों को एक होने दिया। यह पूरा मामला आदिवासी क्षेत्र घाटशिला का है। इस मामले में मिली जानकारी के अनुसार नरसिंहगढ़ पंचायत के रहने वाले लक्ष्मण सोरेन और सलमा किस्कू एक-दूसरे प्यार करते थे। दोनों एक-दूजे को बेइंतहा चाहते थे लेकिन दोनों के प्यार के बीच दीवार बने घरवाले। दोनों रिश्तेदार थे और इस कारण दोनों के घर वालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं था।

बीते रविवार को लक्ष्मण और 9वीं कक्षा की छात्रा सलमा ने रेलवे ट्रैक पर अपनी जान दे दी। आपको बता दें कि लक्ष्मण सोरेन कश्मीर में काम करता था और 10 दिन पहले ही घर लौटा था। बीते गुरुवार सुबह उसकी प्रेमिका सलमा परीक्षा देने की बात कहकर स्कूल निकली थी और इसके बाद रविवार को पता चला कि दोनों ने रेलवे पटरी पर जान दे दी। दोनों की मौत के बाद दोनों के परिवार वालों ने बीते सोमवार को बड़ा फैसला लिया।

जी दरअसल दोनों के परिवार वालों ने दोनों के शवों की आदिवासी रीति-रिवाज से शादी करा दी। इस मामले में सलमा के पिता मेघराय किस्कू ने लक्ष्मण के पिता माघा सोरेन और वहां के ग्राम प्रधानों से कहा कि, 'उनकी बेटी को बहू के रूप में स्वीकारते हुए विवाह के बाद अंतिम संस्कार किया जाए।' बताया जा रहा है माघा सोरेन ने दोनों शवों का आदिवासी परंपरा और विधि-विधान से विवाह कराया। वहीँ उसके बाद तय हुआ कि अंतिम संस्कार के बाद श्राद्ध कर्म का खर्चा माघा सोरेन करेंगे। उसके बाद दोनों का अंतिम संस्कार किया गया।

बच्चों के लिए नया खतरा बना टोमैटो फीवर, ये हैं लक्षण और इलाज

इंदौर में नहीं थम रही आग की घटनाएं! अब इस मार्केट में लगी भयंकर आग, 6 घंटे बाद हुई काबू

मध्य प्रदेश पंचायत चुनाव में OBC आरक्षण मिला या नहीं? जानिए सुप्रीम कोर्ट का फैसला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -