इंदौर: फर्जी अफसर बन लड़कियों को जाल में फंसाता था शातिर अपराधी, ऐसे खुली पोल

इंदौर: विजयनगर थाना पुलिस ने बीते शनिवार को एक शातिर ठग रवि उर्फ राजवीर को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने बड़ी ही चतुराई से एक युवती को ठगा। मिली जानकारी के तहत आरोपी ने खुद को ASI बताया और एक युवती से सगाई कर ली। सगाई के करीब चार महीने में ही उसने लड़की को बताया वह SI बन गया और उसके यह कहते ही युवती सब समझ गई। उसे समझ आ गया कि रवि फर्जी अफसर है। रवि की गिरफ्तारी के बाद कपड़ा शोरूम की संचालिका थाने पहुंची और उसने बताया कि रवि ने उससे 40 लाख ठगे हैं। इस मामले में पुलिस का कहना है रवि सोलंकी उर्फ राजवीर सिमरोल में खेती करता था।

साल 2019 में जून के महीने में उसने खुद को एएसआइ बताया और शीतलनगर निवासी सविता से सगाई कर ली। इस दौरान सविता के स्वजनों ने कपड़े, जेवर सहित करीब आठ लाख रुपये खर्च किए और शादी की तारीख भी तय कर ली और मैरिज गार्डन बुक हो गया। हालाँकि इन सभी के बीच रवि के व्यवहार में बदलाव आने लगा। वह दबिश, विवेचना और ड्यूटी का बहाना बनाकर कम बात करने लगा। वहीं उसके बाद चार महीने में ही एसआइ की वर्दी वाला फोटो भेजकर उसने कहा 'उसका प्रमोशन हो गया है।' यह बात जानने के बाद सविता का शक यकीन में बदल गया और उसने अपने आइटी कंपनी में काम करने वाले भाई के जरिए पड़ताल शुरू कर दी।

वहीं जब SP आफिस में पूछताछ की गई तो पता चला रवि फर्जी अफसर है। वहीं बीते शनिवार को युवती उसके घर पहुंची और पिटाई कर पुलिस के हवाले कर दिया। थाने पहुँचने के बाद यह पता चला कि रवि कई लड़कियों को ठग चुका है। वहीं सविता ने अफसरों के सामने रोते हुए कहा कि उसके कारण माता-पिता बीमार हो गए। रवि की गिरफ्तारी के बाद एक कपड़ा शोरूम संचालिका भी थाने पहुंची और उसने बताया कि रवि ने उससे भी 40 लाख रुपये ठग लिए।

इंदौर: 'बेहतर नहीं बेहतरीन नजारा दिखाएंगे', गुंडे ने दी पुलिस को धमकी

उज्जैन: माफी से नहीं बनी बात, महाकाल मंदिर में नाचने वाली लड़की के खिलाफ दर्ज FIR

इंदौर: गरबा कार्यक्रम के संचालक पर 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप, हिरासत में 5 लोग

 

Most Popular

- Sponsored Advert -