कोरोना पीड़ित को एम्स में भर्ती करवाने के नाम पर भाई बहन करते थे ठगी, पीड़ित से ले चुके है 5 लाख रूपए

दिल्ली पुलिस ने AIIMS में कोविड मरीज को भर्ती कराने के बदले में 5 लाख रूपये मांगने के इलज़ाम में भाई-बहन को हिरासत में लिया जा चुका है। पीड़ित का इलज़ाम है कि उसकी कोविड से लड़ रही पत्नी को AIIMS में भर्ती कराने के बदले में 5 लाख रुपये की मांग की थी। पीड़ित ने कहा कि उसने 2 लाख 80 हज़ार रुपये अपराधी को दे दिए थे। लेकिन पैसे मिलने के उपरांत अपराधी ने पीड़ित की पत्नी को हॉस्पिटल में भर्ती नहीं किया था। 

जिसके उपरांत पीड़ित ने दिल्ली पुलिस की कोविड केयर हेल्प लाइन पर पूरे केस की शिकायत की। पुलिस कार्रवाई में पता चला कि शिकायतकर्ता का एक रिश्तेदार रविन्द्र पाल सिंह (पीड़ित का साला) भूषण कुमार को जानता था। रविन्द्र पाल ने अपनी कोविड से पीड़ित बहन के लिए ऑक्सीजन के सिलेंडर लाने के लिए भूषण कुमार से संपर्क किया और भूषण ने इंसानियत के नाते सिलेंडर भेज दिया था। 30 अप्रैल को रविन्द्र पाल सिंह ने भूषण से फिर संपर्क किया और अपनी बहन की स्थिति गंभीर होने के कारण किसी अस्पताल में भर्ती कराने के लिए मदद मांगी।

आरोपी ने एक अन्य महिला का दिया नंबर: जंहा इस बात का पता चला है कि भूषण ने AIIMS की लैब में काम करने वाले पंकज कुमार से संपर्क किया। पंकज ने कहा कि इस वक़्त किसी हॉस्पिटल में मरीज को भर्ती कराना बहुत ही कठिन है। लेकिन अगर पीड़ित पक्ष कुछ पैसा खर्च करेंगे तो ये मुमकिन भी हो सकता है। कुछ देर के उपरांत आरोपी पंकज ने भूषण को कहा कि 5 लाख रुपये में मरीज को किसी अस्पताल में भर्ती करवाया जा सकता है। पंकज ने भूषण को ममता नाम की एक महिला का नम्बर भी दिया। वहीं नम्बर भूषण ने पीड़िता के बेटे को दे दिया। जब पीड़ित मरीज के बेटे ने ममता से संपर्क किया। इसी मध्य पीड़िता सफदरजंग अस्पताल में भर्ती हो गयी।

अस्पताल में भर्ती कराने के नाम पर 5 लाख रुपये की मांग: मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता के बेटे ने ममता नाम की इस युवती को फोन किया तो ममता ने सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराने के नाम पर 5 लाख रुपये की मांग कर चुके है । इसके उपरांत शिकायतकर्ता ने 2 लाख 80 हज़ार रुपये ममता अपराधियों को दे दिए। जब केस पुलिस की सूचना में आया तो पंकज और ममता की डिटेल्स एम्स अस्पताल से इकट्ठा की गई और लोकेशन ट्रेस करने पर पता चला कि दोनों हिमाचल प्रदेश के मंडी इलाके में मौजूद है।

जिसके उपरांत पुलिस की एक टीम बनाई गई और  अपराधियों  को पकड़ने के लिए रवाना हो गई। जब पुलिस मंडी पहुंची तो पता चला कि पंकज और ममता दोनों बहन भाई है। ममता और पंकज को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया जा चुका है।

टूलकिट मामले पर कांग्रेस का भाजपा पर पलटवार, कहा- नड्डा, पात्रा पर दर्ज करवाएंगे FIR

पीएम मोदी बोले- जब जिले कोरोना को मात देंगे, तभी देश महामारी से जीतेगा

बहुत ही बदतर हुए तौकाते से शहर के हाल, लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा 1 वर्ष पुराना वीडियो

Most Popular

- Sponsored Advert -