सोशल मीडिया पर फैल गयी लोकसभा चुनावों की फर्जी तारीख़े, निर्वाचन आयोग ने दर्ज कराया मामला

नई दिल्ली : आगामी लोकसभा चुनाव की फर्जी तिथि घोषित करने वालों के खिलाफ भारतीय निर्वाचन आयोग ने मामला दर्ज करा दिया है। निर्वाचन आयोग ने अभी तक लोकसभा चुनाव की अधिकारिक घोषणा नहीं की है। इस बीच किसी ने चुनावों की फर्जी घोषणा तैयार कर उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया। जब यह खबर वायरल होने लगी तो निर्वाचन आयोग ने पुलिस में मामला दर्ज करा दिया है।

ट्रैक्टर धोते समय टायर में जोरदार विस्फोट, दो की दर्दनाक मौत

ऐसे फैली थी फर्जी तारीख़े 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस फर्जी घोषणा के तहत अप्रैल और मई में लोकसभा चुनाव बताए गए हैं। बता दें कि निर्वाचन आयोग शुक्रवार के बाद कभी भी लोकसभा चुनावों की घोषणा कर सकता है। अभी चुनाव आयोग की टीम जम्मू-कश्मीर का दौरा कर लौटी है। फर्जी घोषणा में 10 अप्रैल से चुनाव की शुरुआत दिखाई गई है। जो फर्जी सूची डाली गई है, उसमें 10, 17, 24 अप्रैल, 7 मई व 12 मई को बिहार की वोटिंग है। इसमें बाद 10 और 17 अप्रैल को उड़ीसा में मतदान तय किया गया है। पश्चिम बंगाल में 17, 24, 30 अप्रैल और 7 व 12 मई को वोटिंग दिखाई गई है। 

पर्चों की आड़ में नक्सलियों ने दिया आईईडी ब्लास्ट को अंजाम, एक की मौत कई घायल

किसी ने की है शरारत

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसी तरह झारखंड, छत्तीसगढ़, राजस्थान, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और उत्तरप्रदेश सहित सभी राज्यों में लोकसभा चुनाव की तिथियां बताई गई हैं। अंतिम चरण में उत्तरप्रदेश का चुनाव होगा। यहां पर फर्जी सूची के मुताबिक, पांच चरणों में वोट डाले जाएंगे।10, 17, 24, 30 अप्रैल और 7 व 12 मई को मतदान निर्धारित किया गया है। चुनाव आयोग का कहना है कि यह किसी की शरारत है। इसका चुनाव आयोग से कोई लेना-देना नहीं है। 

धमतरी : एक ही बाइक पर सवार होकर घर लौट रहे थे तीन मजदूर, सड़क दुर्घटना में मौत

2018-19 में रिकॉर्ड तोड़ेगा देश का वस्तु निर्यात स्तर

9 मार्च को पीएम मोदी करेंगे नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी सेक्शन का उद्घाटन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -