+

इन कारणों से प्रभावित होती है आँखों की रौशनी

इन कारणों से प्रभावित होती है आँखों की रौशनी

आंखों की खूबसूरती हमारे चेहरे की खूबसूरती के लिए बहुत जरूरी है। इनकी सेहत के प्रति लापरवाही आंखों पर चश्में चढ़वाकर आपकी खूबसूरती पर बट्टा लगा सकती है। इसलिए समय रहते सतर्क हो जाना बहुत जरूरी है। वैसे भी बढ़ती उम्र के साथ आंखों की रोश्नी तो प्रभावित होती ही है। दरअसल आंखों की रोशनी कम होने का प्रमुख कारण है हमारी आंखों के आस-पास की मांसपेशियों का ढीला होना। इन्हें कसी हुई बनाए रखने से आंखों की रोशनी पर बढ़ती उम्र का भी कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

भोजन के बाद जरूर करें यह कार्य हमेशा रहेंगे स्वस्थ

इस तरह बढ़ा सकते है रौशनी 

हम आपको बता दें लगातार कंप्यूटर पर काम करते रहने से भी आंखों की रोशनी में कमी आ जाती है। इसके अलावा आंखों में दर्द, सिरदर्द जैसी समस्याएं भी सामने आती हैं। इसलिए आज हम आपको आंखों के लिए उन आसनों के बारे में बताएंगे जिन्हें करने के बाद आपकी आंखों की सभी समस्याएं लगभग दूर हो जाएंगी। ये आसान काफी आसान हैं और कम समय में किए जा सकते हैं इसलिए इन्हें करने के लिए आपको समय का बहाना बनाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इस तरह बुखार को दूर कर देगा पपीते का पत्ता

और भी है कई उपाय  

इसी के साथ सर्वांगासन एक ऐसा आसन है जिसमें शरीर के सभी अंगों का व्यायाम हो जाता है। इसे करने के लिए सबसे पहले सीधा लेट जाएं। फिर अपने दोनों पैरों को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं और पूरा शरीर गर्दन से समकोण बनाते हुए सीधा लगाएं। ऐसे में आपकी ठोड़ी सीने से लगनी चाहिए। ऐसी अवस्था में 10-12 बार गहरी सांस लें फिर धीरे-धीरे पैरों को नीचे करें। इस आसन से आंखों के आसपास मांशपेशियों में रक्तसंचार बढ़ता है। 

रक्त में ऑक्सीजन बढ़ाने में सहायक है अंकुरित अनाज

गर्मियों में इस तरह कम कर सकते है तनाव

शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करती है 'हरी मिर्च'