चीन से आयात में नजर आई गिरावट, निर्यात में मजबूती

Apr 07 2019 02:12 PM
चीन से आयात में नजर आई गिरावट, निर्यात में मजबूती

नई दिल्ली : व्यापार घाटा कम करने के प्रयासों के बीच भारत का चीन के लिये निर्यात बढ़ रहा है जबकि आयात में उल्लेखनीय गिरावट आयी है। चीन के साथ व्यापार संतुलन बनाने के लिए भारत ने पिछले कुछ महीनों में लगातार प्रयास किये और इस मुद्दे को दोनों देशों के प्रत्येक बातचीत में उठाया जाता रहा है।

कीमतों में उतार-चढ़ाव के बीच आज घटे पेट्रोल और डीजल के दाम

ऐसा रहा आयात का हाल 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार वित्त वर्ष 2018-19 में जनवरी तक चीन को भारतीय निर्यात में 31 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है। यह आंकड़ा 10 अरब डालर से बढ़कर 14 अरब डालर तक पहुंच गया है। वही इसी अवधि में होने वाले आयात में 24 प्रतिशत की गिरावट आयी है। बीते वित्त वर्ष में चीन के साथ व्यापार घाटा भी 53 अरब डालर से कम होकर 46 अरब डालर तक आ गया है। मौजूदा आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2018-19 में भारतीय निर्यात के लिए चीन तीसरा सबसे बड़ा देश है जबकि आयात के लिए यह पहले स्थान पर है।

खाद्य तेलों में तेजी के साथ, थोक बाजार में नजर आया टिकाव

यहां भी देखा गया असर 

जानकारी के मुताबिक दोनों देशों के आपसी व्यापार वर्ष 2001-02 के तीन अरब डालर से बढ़कर वर्ष 2017-18 तक 90 अरब डालर तक पहुंच गया है। चीन से भारत को आयात होने वाली वस्तुओं में 30 प्रतिशत इलेक्ट्रिकल्स उपकरण, मैकेनिकल उपकरण 19 प्रतिशत जैविक रसायन 12 प्रतिशत तथा अन्य शामिल हैं। चीन को निर्यात होने वाली वस्तुओं में जैविक रसायन 19.4 प्रतिशत, खनिज ईंधन 19.3 प्रतिशत और कपास 10 प्रतिशत तथा अन्य हैं।

आयकर विभाग ने जारी किये नए रिटर्न फॉर्म, मांगी यह अहम जानकारियां

देश के विदेशी पूंजी भंडार में पिछले सप्ताह हुआ 5.23 अरब डॉलर का इजाफा

डीजल के दाम में 5 पैसे प्रत‍ि लीटर की बढ़ोतरी, पेट्रोल में नजर आयी स्‍थिरता