बिहार में तांडव कर रहा कोरोना, सवालों के घेरे में नीतीश सरकार

Jul 14 2020 11:15 AM
बिहार में तांडव कर रहा कोरोना, सवालों के घेरे में नीतीश सरकार

बिहार में कोविड 19 की बढ़ती गति ने प्रदेश सरकार को चिन्ता में डाल दिया है, हर रोज एक हजार से अधिक नए मरीज मिल रहे हैं, जिसके वजह प्रदेश सरकार एक बार फिर से संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी कर रही है. मंगलवार को गवर्नमेंट ने आलाधिकारियों की मीटिंग बुलाई है. इसमें प्रदेश में बढ़ते महामारी के मामलों की समीक्षा होगी और अंतिम तौर पर लॉकडाउन पर रजामंदी बनाई जाएगी.

डॉक्टर ने खुद ट्रेक्टर चलाकर 'डेडबॉडी' को पहुँचाया श्मशान, कोरोना से हुई थी शख्स की मौत

प्रदेश में बीते कुछ दिनों में कोरोना के केस प्रदेश स्तर पर तेजी से बढ़े हैं. जून माह में जहां 1 दिन में पॉजिटिव मामले मिलने की गति दो से ढ़ाई सौ थी उसने जुलाई माह में रफ्तार पकड़ ली. यह गति अब रोज 11 सौ से 12 सौ मामले तक पहुंच चुकी है. निरंतर बढ़ते मामलों को देखते हुए 7 जुलाई को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने जिलाधिकारियों के साथ वीडियो के माध्यम चर्चा कर आदेश दिए कि डीएम अपने-अपने क्षेत्र में महामारी के बढ़ते केस का आकलन करें और आवश्यकता के आधार पर आंशिक लॉकडाउन का फैसला लें. मुख्यसचिव के आदेश के बाद पहले भागलपुर इसके बाद दस जुलाई से पटना में आंशिक लॉकडाउन लागू किया गया. आगामी ही दिन लगभग 15 जिलों में आंशिक लॉकडाउन लगा दिया गया.

पाक सरकार ने उड़ाई मानवाधिकार की धज्जिया, भारत को लेकर कही ये बात

बता दे कि अब गवर्नमेंट ने लॉकडाउन को लेकर कठोर कदम उठाने का निर्णय किया है. सरकार प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन पर वार्तालाब कर रही है. आज यानी मंगलवार को अधिकारियों के साथ इस बिंदु पर चर्चा  होगी. इसके बाद संपूर्ण राज्य में एक साथ लॉकडाउन लगाया जा सकता है. प्रदेश के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि गवर्नमेंट संपूर्ण लॉकडाउन पर विचार कर रही है. मंगलवार तक इस मामले में कोई अंतिम फैसला लिया जाएगा.

शायद ही कोरोना की बन पाएगी वैक्सीन, WHO के बयान ने किया निराश

इस हफ्ते 10 लाख के पार पहुँच जाएगी कोरोना मरीजों की संख्या, राहुल गाँधी का दावा

ये हैं बॉलीवुड के 5 सबसे अमीर अभिनेता, पानी की तरह आता है पैसा