इस ​देश से भारत को मिल सकता है डीडीटी का बड़ा आर्डर

कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के बीच अफ्रीकी देशों से डीडीटी के बड़े निर्यात ऑर्डर की उम्मीद बढ़ी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने आने वाले महीनों में अफ्रीकी देशों में मलेरिया के प्रकोप की आशंका के साथ चेतावनी जारी है. इसके लिए मच्छरों को मारने के लिए डीडीटी व अन्य कीटनाशकों की जरूरत पड़ेगी. निर्यात की इन्हीं संभावनाओं के मद्देनजर इन कीटनाशकों का उत्पादन करने वाली हिंदुस्तान इन्सेक्टिसाइड (एचआइएल) ने दक्षिणी अफ्रीकी देशों को अपनी उत्पादन क्षमता व आपूíत के बारे में विस्तार से पत्र लिखा है.

बाहुबली नेता पप्पू यादव पर मंडरा रहे संकट के बादल, जाने क्या है मामला

आपकी जानकारी के​ लिए बता दे कि भारतीय कंपनी एचआइएल घरेलू खेती के लिए विभिन्न तरह के कीटनाशकों का उत्पादन करती है. लॉकडाउन के दौरान भी इस कंपनी ने अपना उत्पादन जारी रखा है. विभिन्न उत्पादों में डीडीटी, मैलाथियान, हिलगाल्ड और अन्य फॉर्मूलेशन का पर्याप्त स्टॉक निर्यात के लिए तैयार है. देश की पश्चिमी सीमा वाले राज्यों में इन दिनों टिड्डी दलों का आक्रमण हुआ है, जिस पर नियंत्रण पाने के लिए गुजरात और राजस्थान को भारी मात्रा में मैलाथियान टेक्निकल की आपूíत की जा रही है.

कोरोना की मार से काँप उठा यह शहर, शुरू हुआ अब मौत का खेल

अगर आपको आपको नही पता तो बता दे कि एचआइएल के उत्पादन संयंत्रों में स्वास्थ्य मानकों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है. शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए न्यूनतम श्रमिकों से काम लिया जा रहा है. इन सभी संयंत्रों में स्वच्छता का स्तर बढ़ा दिया गया है. सभी कार्यस्थलों, संयंत्रों, कारखाने में प्रवेश करने वाले ट्रकों और बसों की निरंतर साफ-सफाई की जा रही है.

दिल्ली-सोनीपत सीमा विवाद को लेकर हाईकोर्ट ने बोली यह बात

दिल्ली में तीसरे लॉकडाउन के बाद भी नहीं थमा कोरोना का कहर

टीडीपी ने विशाखापत्तनम गैस रिसाव त्रासदी में जान गंवाने वाले लोगों को लेकर बोली यह बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -