पूर्व आरएसएस विचारक अयोध्या मामले की सुनवाई लाइव स्ट्रीमिंग करने के लिए SC पहुंचे

नई दिल्लीः आरएसएस के पूर्व विचारक केएन गोविंदाचार्य ने अयोध्या मामले की सुनवाई  लाइव स्ट्रीमिंग करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है। उनका कहना है कि यह करोड़ों लोगों के आस्था से जुड़ा मामला है, जो इस मामले में जल्द से जल्द न्याय मिलने की आस लगाए हुए हैं। बता दें कि अयोध्या विवाद में मध्यस्थता प्रक्रिया बेनतीजा रहने पर शुक्रवार को चीफ जस्टिस रंजन गोगई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय पीठ ने छह अगस्त से इस मामले की लगातार सुनवाई करने का फैसला लिया है।

गोविंदाचार्य ने अपनी याचिका में कहा है कि भारत डिटिजल दुनिया में सुपर पावर बन चुका है, लिहाजा अयोध्या मामले की लाइव स्ट्रीमिंग करने की व्यवस्था की जानी चाहिए। अयोध्या मामला राष्ट्रीय महत्व का है। साथ ही जानने के हक को मौलिक अधिकार के दायरे में रखा गया है और न्याय तक पहुंच भी नागरिकों का अधिकार है। ऐसे में अयोध्या मामले की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की जानी चाहिए। गोविंदाचार्य ने सितंबर, 2018 के सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का भी हवाला दिया है जिसमें लाइव स्ट्रीमिंग की शुरुआत करने की बात कही गई थी।

लाइव स्ट्रीमिंग होने से जो लोग कोर्ट के फैसले से प्रभावित होते हैं वे यह समझ सकेंगे कि न्यायिक आदेश किस तरह से दिए जाते हैं। 76 वर्षीय गोविंदाचार्य ने अपनी याचिका में कहा है कि भगवान राम के भक्तों को यह जानने में दिलचस्पी है कि SC  के सामने कोई शख्स भगवान राम का प्रतिनिधित्व कैसे करेगा। गोविंदाचार्य ने बताया कि उनकी तरह करोड़ों लोग इस सुनवाई के गवाह बनना चाहते हैं मगर मौजूदा व्यवस्था के तहत ऐसा संभव नहीं है। ऐसे में सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग आवश्यक है। 

अब गिर सकती है कमलनाथ सरकार, IT की जांच में फंसे MP के 30 विधायक !

कमलनाथ सरकार का बड़ा ऐलान, इस नंबर पर दें मिलावटखोरी की सूचना और पाएं इनाम

मध्य प्रदेश: मिलावटखोरी के आरोप में एक कारोबारी गिरफ्तार, रासुका के तहत होगी कार्रवाई

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -