'नाली गैस से चाय बना सकें? इसलिए बढ़ाया रसोई गैस का दाम?': कन्हैया कुमार

Feb 28 2021 12:09 PM
'नाली गैस से चाय बना सकें? इसलिए बढ़ाया रसोई गैस का दाम?': कन्हैया कुमार

नई दिल्ली: जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने हाल ही में लोकल ट्रेनों का किराया और रसोई गैस की कीमत बढ़ाने पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने प्रतिक्रिया देते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की है। उन्होंने सरकार के तर्क पर एक कटाक्ष भी किया है। प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने पूछा है, 'सरकार ने रसोई गैस की कीमतें क्या इसलिए बढ़ा दी है कि लोग नाली के गैस से चाय बना सकें?' आप देख सकते हैं उन्होंने एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में वह लिखते हैं, "लोकल ट्रेन का किराया दोगुना करते हुए सरकार बहादुर ने कहा है कि लोग बिना मतलब यात्रा ना करें इसलिए ऐसा किया गया है।।।। हे प्रभु!! साथ में ये भी बता देते कि रसोई गैस का दाम इसलिए बढ़ाया गया है ताकि लोग नाली के गैस से चाय बना सकें?"

इसी के साथ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, 'लोकल ट्रेन का किराया दोगुना करते हुए सरकार बहादुर ने कहा है कि लोग बिना मतलब यात्रा ना करें इसलिए ऐसा किया गया है। हे प्रभु!! साथ में ये भी बता देते कि रसोई गैस का दाम इसलिए बढ़ाया गया है ताकि लोग नाली के गैस से चाय बना सकें?' आप सभी को याद हो तो दो दिन पहले भी उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उस दौरान उन्होंने ट्वीट कर लिखा था, "आपदा में अवसर' का लाभ उठाते हुए सरकार ने पैसेंजर ट्रेन का किराया दुगुने से भी ज्यादा कर दिया है। रसोई गैस के दाम एक महीने में 100 रू तक बढ़ा दिए गए हैं। पेट्रोल-डीजल पर दाम से डबल टैक्स लिया जा रहा है।। शेर पालने का ड्रामा करके पूरे देश की कमर तोड़ रहें हैं ये फर्जी राष्ट्रवादी।"

वैसे कन्हैया कुमार के बारे में बात करें तो वह हमेशा सुर्खियों में रहते थे। उस दौरान वह चर्चाओं में आए थे जब उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रमुख सहयोगी और सरकार में मंत्री अशोक चौधरी से मुलाकात की थी। उसके बाद बिहार में सियासी अटकलें तेज हो गयी थीं कि कन्हैया सीपीआई छोड़ सकते हैं।

राहुल गाँधी को लेकर बोले नरोत्तम मिश्रा- 'पप्पू मछली पकड़ रहे हैं'

MP: किसान आत्मनिर्भर होंगे तो देश भी आत्मनिर्भर बनेगा: राज्यमंत्री कुशवाह

न्यूजीलैंड में काबू के बाहर हुई कोरोना महामारी, हालात हुए और भी गंभीर