पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा को मिला रोहतक छोड़ने का आदेश

Feb 24 2016 04:06 PM
पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा को मिला रोहतक छोड़ने का आदेश

रोहतक : हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को रोहतक छोड़कर जाने के लिए कहा गया है। दरअसल स्थानीय प्रशासन ने पूर्व मुख्यमंत्री को इस तरह के निर्देश दिए हैं। दरअसल रोहतक में जाट आरक्षण आंदोलन का असर देखने को मिला। इस आंदोलन के चलते रोहतक में जमकर हिंसा हुई। जाट आरक्षण आंदोलन हिंसा से बुरी तरह से प्रभावित रही।

प्रशासन ने इस हेतु कानून व्यवस्था और शांति बनाने को लेकर अपने प्रयास किए और इसके चलते पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा को यहां से जाने के लिए कहे जाने की बात कही। इस मामले में आधिकारिक सूत्रों द्वारा कहा गया कि कांग्रेस नेता हुड्डा को शांति और सद्भावना तय करने हेतु रोहतक छोड़कर जाने के लिए कहा गया।

हुड्डा ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाकर रखने हेतु रोहतक से जाने के लिए कहा गया। मैं इन आदेशों का पालन करने के लिए तैयार हूं और मैं ऐसा करने के लिए बाध्य भी हूॅं। जिसके कारण शहर को तुरंत छोड़ दिया। उनका कहना था कि वे दिल्ली जा रहे हैं। उनका कहना था कि कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए प्रशासन द्वारा इस तरह का कार्य किया जा सकता है। 

पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा के सहयोगी और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता बीबी बत्रा द्वारा यह कहा गया कि पहले दो आईपीएस अधिकारी हुड्डा के आवास पर पहुंचे और मौखिक रूप से उनसे कहा गया कि वे शहर छोड़कर चले जाऐं ऐसे में उन्होंने कानून व्यवस्था के आधार पर अपना आदेश जारी किया।