'बाबर युग से पहले भारत में हर शख्स हिन्दू था .', असम के सीएम हिमंत सरमा का बड़ा दावा

गुवाहाटी: असम के सीएम और भाजपा के फायरब्रांड नेता हिमंत बिस्वा सरमा ने गुरुवार को कहा है कि भारत के बाहर संकट का सामना कर रहे हिंदुओं का देश में स्वागत है, क्योंकि भारत एक हिंदू-बहुल देश है। उन्होंने यह भी दावा किया कि हिंदुस्तान में बाबर युग से पहले हर शख्स हिंदू था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, CAA से संबंधित एक सवाल पर सरमा ने कहा कि, 'भारत एक हिंदू बहुल राष्ट्र है। यदि भारत के बाहर किसी हिंदू को तकलीफ हो रही है तो देश में आपका स्वागत है। भारत हर हिंदू की जड़ है। बाबर युग से पहले हर शख्स हिंदू था।'

उन्होंने आगे सवाल किया कि मंदिरों के निर्माण की बात बात करने वालों को सांप्रदायिक के रूप में क्यों देखा जाता है। सरमा ने कहा कि, 'सिर्फ मंदिर ही क्यों? यदि पुराने मंदिरों का पुनर्निर्माण और पुनर्विकास किया गया तो क्या गलत है। हम हिंदू हैं, हम हिंदू होंगे। एक हिंदू के रूप में मैं ज्यादा धर्मनिरपेक्ष हूं।' सरमा ने इससे पहले जुलाई में जोर देते हुए कहा था कि हिंदुत्व जीवन का एक तरीका है और दावा किया कि ज़्यादातर धर्मों के अनुयायी हिंदुओं के वंशज हैं। हिंदुत्व की शुरुआत 5,000 वर्ष पूर्व हुई थी और इसे रोका नहीं जा सकता। भाजपा के दिग्गज नेता ने राज्य में अपनी सरकार के दूसरे माह के पूरा होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक प्रेस वार्ता में यह बात कही।

सीएम सरमा ने कहा कि, 'हिंदुत्व जीवन का एक तरीका है। मैं या कोई इसे किस तरह रोक सकता है? यह युगों से प्रवाहित होता आया है। हम में से तक़रीबन सभी हिन्दुओं के वंशज हैं। एक ईसाई या मुसलमान भी कभी न कभी हिंदुओं से निकला है।' 

विपक्षी दल अपने दम पर बीजेपी से नहीं लड़ सकते: दिनेश शर्मा

वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान के 100 वर्ष हुए पूरे, समरोह में पहुंचकर सीएम योगी ने की इनसे मुलाकात

केरल में राज्यसभा की एक सीट के लिए उपचुनाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -